स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

संदीप यादव : कम उम्र में बदली पार्टियां, कमल से निकले, हाथी पर चढक़र विधानसभा पहुंचे, अब पकड़ा कांग्रेस का हाथ

Lubhavan Joshi

Publish: Sep 18, 2019 17:34 PM | Updated: Sep 18, 2019 17:34 PM

Alwar

Sandeep Yadav MLA Tijara : तिजारा से विधायक संदीप यादव ने भाजपा छोडक़र बसपा ज्वाइन की, अब बसपा छोडक़र कांग्रेस में चले गए हैं।

अलवर. Sandeep Yadav MLA Tijara : अलवर जिले के तिजारा से विधायक संदीप यादव ( Tijara MLA Sandeep Yadav ) एकाएक प्रदेश की राजनीति में चर्चा में आ गए हैं। सबसे कम उम्र विधायक होने के बावजूद पिछले आठ माह में तीन पार्टियां बदल ली। हर पार्टी में उनको खास महत्व भी मिला। राजनीति में भाजपा के सहारे खड़े हुए। पिछली सरकार ने उनको बिना विधायक रहते युवा बोर्ड उपाध्यक्ष बनाकर राज्यमंत्री का दर्जा दिया। आठ माह पहले विधानसभा चुनाव में तिजारा से भाजपा ने टिकट नहीं दिया तो बसपा का दामन थाम कर विधायक बन गए। विधानसभा चुनाव के आठ माह बाद ही संदीप ने बसपा को छोड़ कांग्रेस का हाथ पकड़ लिया। यहां भी विधायक संदीप को बड़ा पद मिलने की उम्मीद है।

भले ही तिजारा से चुनाव लडऩे वाले विधायक को जनता ने भरपूर वोट दिए। वहां की जनता को अभी बड़ा कुछ न हीं मिला है लेकिन, विधायक ने अपना कद खूब बढ़ा लिया है। विधायक का कहना है कि क्षेत्र का विकास कराने के उद्देश्य से ही यह निर्णय किया गया है।
खैरिया भी दो बार हारकर जीते किशनगढ़बास क्षेत्र से बसपा से चुनाव जीत विधायक बने दीपचंद खैरिया भी पूर्व में कांग्रेस के टिकट पर इसी विधानसभा क्षेत्र से दो बार विधानसभा का चुनाव लड़े, लेकिन दोनों बार ही कामयाब नहीं हो पाए। तीसरी बार कांग्रेस ने उन्हें टिकट नहीं दिया तो बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े और जीते।