स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नई पेंशन स्कीम को बताया लूट, शोक दिवस मनाया

Pradeep kumar yadav

Publish: Jan 15, 2020 01:57 AM | Updated: Jan 15, 2020 01:57 AM

Alwar

काली पट्टी बांधकर पेंशनरों ने जताया रोष

अलवर. न्यू पेंशन स्कीम एंपलाइज फेडरेशन ऑफ राजस्थान (एनपीएसईएफआर) के कर्मचारियों की ओर से मंगलवार को कार्यस्थल पर हाथ में काली पट्टी बांधकर पेंशन शोक दिवस मनाया गया।
प्रदेश उपाध्यक्ष यशवन्त सिंह मांढैया ने एक जनवरी 2004 के बाद सरकारी सेवा में नियुक्त कर्मचारियों व अधिकारियों की पेंशन को बंद कर न्यू पेंशन स्कीम म्यूचल फंड योजना थोपे जाने को संगठित लूट बताया। प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष कन्हैया लाल शर्मा ने बताया कि राजस्थान की तत्कालीन सरकार ने 14 जनवरी 2004 को एक नोटिफिकेशन द्वारा राजस्थान पेंशन रूल 1996 में संशोधन कर राजस्थान के सरकारी, अद्र्ध सरकारी व स्वायत्तशासी संस्थाओं के लाखों अधिकारियों व कर्मचारियों को पेंशन से वंचित कर दिया। 14 जनवरी 2020 मंगलवार को उक्त नोटिफिकेशन के जारी होने की 16वीं बरसी पर राजस्थान के लाखों कर्मचारी व अधिकारियों ने कार्यस्थल पर काली पट्टी बांधकर पेंशन शोक दिवस मनाया। इसी क्रम में अलवर के काफी कर्मचारियों ने विरोध स्वरूप काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराया। न्यू पेंशन म्युचुअल फंड योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन लागू कराने का संकल्प लिया।

[MORE_ADVERTISE1]