स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नक्षत्रों का राजा है पुष्य नक्षत्र, इसलिए की जाती है जमकर खरीदारी

Subhash Raj

Publish: Oct 21, 2019 01:40 AM | Updated: Oct 21, 2019 01:40 AM

Alwar

अलवर. दीपावली के लिए बाजार पूरी तरह सज गए हैं। दुकानों और शोरूम को सुंदर तरीके से सजाया गया है। दुकान पर आने वाले ग्राहकों के स्वागत की तैयारी की गई है। पहले खरीददारी के लिए धनतेरस को ही शुभ माना जाता था लेकिन अब पुष्य नक्षत्र पर अधिक खरीददारी होने लगी है।

ज्योतिष के अनुसार 27 नक्षत्र माने गए हैं। पुष्य नक्षत्र आठवां नक्षत्र है और इसे नक्षत्रों का राजा कहा जाता है। पुष्य नक्षत्र के देवता गुरु हैं और यह नक्षत्र शनि की दशा को बताता है। पुष्य नक्षत्र का योग सभी दोषों को दूर करने वाला और विशेष फलदायी होता है। इसलिए पुष्य नक्षत्र को धनतेरस की तरह स्वयं सिद्ध व अबूझ मुहूर्त माना जाता है। धनतेरस 25 अक्टूबर को है। पुष्य नक्षत्र को बृहस्पति और शनि के कारण स्थाई और समृद्धि कारक माना जाता है। पंडित यज्ञदत्त शर्मा ने बताया कि इस बार सोम पुष्य व भौम पुष्य नक्षत्र खरीददारी के लिए श्रेष्ठ है। सोम पुष्य नक्षत्र 21 अक्टूबर को शाम 5:32 बजे से पुष्य नक्षत्र प्रारंभ हो जाएगा। इसी के साथ ही सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है। जो कि 22 अक्टूबर को शाम 4:39 बजे तक रहेगा। 22 अक्टूबर को पुष्य नक्षत्र होने के साथ वर्धमान योग भी बन रहा है। इसके अलावा चंद्रमा पर बृहस्पति की दृष्टि पडने से गज केसरी नाम का राजयोग भी बन रहा है। यह योग सुख समृद्धि और सौभाग्य प्रदान करने वाला होता है। इस दिन की जाने वाली खरीददारी अक्षय मानी गई है यानि खरीदी गई वस्तु स्थाई रहेगी। पुष्य नक्षत्र में संपत्ति, जेवरात, बर्तन, वस्त्र, इलेक्ट्रिक, ऑटोमोबाइल, रियल स्टेट के साथ घर के लिए जरूरी सामान आदि की खरीददारी करना शुभ माना जाता है। पुष्य नक्षत्र सभी राशियों के लिए शुभ माना जाता है। इसलिए इस दिन कोई भी राशि वाला व्यक्ति अपने लिए किसी भी प्रकार की खरीददारी कर सकता है। अब लोग धनतेरस का इंतजार नहीं करते हैं, पुष्य नक्षत्र में ही खदीददारी कर लेते हैं। इस बार रेडिमेड में पुष्य नक्षत्र में करीब दो करोड की खरीदारी होने की उम्मीद है। लड़कियों के लिए प्लाजो विद कुर्ता, इंडो वेस्टर्न, लौंग इवनिंग गाउन के साथ बच्चों के लिए एथनिक वीयर लाए गए हैं। लड़कों के लिए डेनिम पैंट व जिंस पैंट नए स्टायलिश लुक में उपलब्ध हैं। इंदौर से बच्चों के रेडिमेड ड्रेस लाए गए हैं। रेडिमेड का माल लुधियाना, मुम्बई, कानपुर और कोलकाता से लाया गया है। अलवर में सभी प्रकार के ब्रांड व बेस्ट वैरायटी उपलब्ध है।
दो दिन तक चलने वाले पुष्य नक्षत्र से सर्राफा को बहुत उम्मीद है। इस बार करीब डेढ़ करोड के सोने चांदी के आयटम बिकने की आस है। सर्राफा व्यवसाइयों ने ग्राहकों के लिए खास तैयारी की है। इस बार खास तौर से लाइटवेट आइटम आए हुए हैं जो कि दिखने में भी सुंदर है और पहनने के बाद अच्छा लुक देते हैं। इनकी कीमत भी कम है। इसके साथ ही कोलकाता की कारीगरी वाले आयटम आए हुए हैं जिसमें रिंग्स, नेकलेस सेट खास है। मीना व कुंदन वर्क वाले गहने भी लाए गए हैं। आने वाली धनतेरस को देखते हुए चांदी के सिक्के भी है। जिसमें शुद्ध चांदी का 10 ग्राम का सिक्का 485 रुपए का है। अलवर का इलेक्ट्रॉनिक्स व इलेक्ट्रिक बाजार में पुष्य नक्षत्र को लेकर तैयारी की गई है। इस बार करीब एक करोड से ज्यादा की खरीददारी की उम्मीद है। जिन्हें ग्राहक पसंद भी कर रहे हैं। इस बार ग्राहकों का फोकस एलईडी पर ज्यादा है। फ्रिज, वाशिंग मशीन के अलावा कूलर, पंखे, किचन गैजेटस माइक्रोवेव ओवन, तंदूर, म्युजिक सिस्टम मीडिल क्लास पसंद कर रहा है। धनतेरस के लिए भी लोग पहले ही बुक करवा रहे हैं। पुष्य नक्षत्र को लेकर ऑटोमोबाइल सेक्टर में विशेष तैयारी की गई है। पुष्य नक्षत्र और धनतेरस के लिए करीब 6000 कार और करीब 1 हजार दोपहिया वाहन बुक हो चुके हैं। ऑटो सेक्टर की पुष्य नक्षत्र पर उम्मीदें टिकी हैं। ग्राहकों को वाहनों की खरीद पर कैश में छूट, पेटीएम और कम ब्याज पर फाइनेंस की सुविधा दी जा रही है।