स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जीवित व्यक्ति को मृत बता बंद कराई पेंशन

Shyam Sunder Sharma

Publish: Dec 12, 2019 23:12 PM | Updated: Dec 12, 2019 23:12 PM

Alwar

भुनगड़ा अहीर ग्राम पंचायत कर्मियों की लापरवाही उजागर

अलवर. शाहजहांपुर क्षेत्र के भुनगड़ा अहीर ग्राम पंचायत की लापरवाही के चलते जीवित व्यक्ति को मृत बताकर उसकी वृद्धावस्था पेंशन बंद करा दी गई। कर्मचारियों की लापरवाही का खमियाजा वृद्ध व्यक्ति तीन माह से भुगत रहा है, जिसकी अभी तक पेंशन शुरू नहीं हो पाई है।
हुआ यूं कि भुनगड़ा अहीर निवासी जवाहरलाल यादव पुत्र चंदर यादव की सितम्बर माह में मृत्यु हो गई थी। स्थानीय ग्राम पंचायत में कार्यरत ग्राम विकास अधिकारी एवं कनिष्ठ लिपिक की लापरवाही के चलते जवाहर लाल यादव पुत्र चंदर यादव की बजाय इसी गांव के वृद्धावस्था पेंशनधारी जवाहरलाल यादव पुत्र बस्तीराम यादव के मृत होने की रिपोर्ट विभागीय प्रगति रिपोर्ट में दर्ज करा दी गई, जिसके चलते वृद्ध की पेंशन बंद हो गई। पीडि़त वृद्ध तीन माह से पेंशन शुरू कराने के लिए तहसील व पंचायत समिति के चक्कर लगाने को विवश है। वृद्ध अपने जिंदा होने का सबूत व पीपीओ नंबर आलाधिकारियों को दिखाता घूम रहा है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

जीवित होने के दस्तावेज करा दिए जमा
भुनगड़ा अहीर में एक ही नाम के दो व्यक्तियों में से 22 सितंबर को जवाहरलाल यादव नाम के वृद्ध की मृत्यु होने पर ग्राम विकास अधिकारी हर्ष शर्मा ने मृतक के पिता का नाम जाने बिना ही जवाहरलाल पुत्र बस्तीराम के मृत होने की गलत सूचना पंचायत समिति को भिजवा दी, जिससे पेंशन बंद हो गई। दुबारा से वृद्धावस्था पेंशन शुरू कराने के लिए वृद्ध का जीवित होने संबंधी लिखित में दस्तावेज कार्यालय में जमा करा दिए हैं।
-मोहनलाल कलावत, सरपंच,भुनगड़ा अहीर।

[MORE_ADVERTISE1]