स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

वन स्टॉप सेंटर का हुआ शुभारंभ

Jyoti Sharma

Publish: Dec 07, 2019 21:24 PM | Updated: Dec 07, 2019 21:24 PM

Alwar

पीडित महिलाओं को मिलेगी सुविधाएं

पहले दिन ही दर्ज नहीं हुई शिकायत

अलवर. वर्तमान समाज में नारी उत्पीडन को लेकर आए दिन सामने आ रही घटनाओं को देखते हुए महिलाओं को सशक्त करने के लिए वन स्टॉप सेंटर मील का पत्थर साबित होगा। यह कहना है कि प्रभारी मंत्री एवं महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश का। वे सामान्य चिकित्सालय के सामने स्थित राजकीय धर्मशाला में महिला अधिकारिता विभाग की ओर से संचालित वन स्टॉप सेंटर ;सख द्के उद्घाटन समारोह के अवसर पर सम्बोधित कर रही थीं

पीडित महिलाओं को मिलेगी सुविधाएं

पहले दिन ही दर्ज नहीं हुई शिकायत

वे सामान्य चिकित्सालय के सामने स्थित राजकीय धर्मशाला में महिला अधिकारिता विभाग की ओर से संचालित वन स्टॉप सेंटर ;सखीद्ध के उद्घाटन समारोह के अवसर पर सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने बताया कि इस केन्द्र पर उत्पीडित महिलाओं को एक ही स्थान पर तत्काल आपातकालीन राहत सेवाएंए चिकित्सकीय या मनोचिकित्सकीय सेवाएं पुलिस सहायताए कानूनी सहायताए अस्थाई आवास एवं परामर्श की सुविधा निरूशुल्क प्रदान की जाएगी। जो कि महिलाओं के मान सम्मान की रक्षा एवं विपरीत परिस्थितियों में उन्हें तुरन्त संबल प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगी।

इस अवसर पर श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि हिंसा या उत्पीडन की शिकार महिला को यदि बिना देरी किए इस प्रकार की सुविधाएं निरूशुल्क एवं त्वरित रूप से प्राप्त होगी वन स्टॉप सेंटर अपनी सार्थक भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक ऋषिराज सिंगल ने बताया कि वन स्टॉप सेंटर की स्थापना जिले में एकल खिडकी के रूप में की गई है। जो कि 24 घण्टे संचालित किया जाएगा। इसमें पुलिसकर्मीए चिकित्साकर्मी एवं परामर्शदाता 24 घण्टे एवं सातों दिन उपस्थित रहेंगे। केन्द्र पर कोई भी महिला जो उत्पीडन की शिकार होए सखी केन्द्र पर अपना प्रकरण दर्ज करवा सकती है। जिनमें 18 वर्ष से कम उम्र की बालिकाएं भी शामिल है। केन्द्र पर पीडिता को अधिकतम पॉंच दिन तक आश्रय एवं भोजन की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इस अवसर पर पुस्तक का भी विमोचन किया गया। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक परिस देशमुखए जिला लैंगिक उत्पीडन समिति के सदस्य राजेश कृष्ण सिद्ध सहित संबंधित अधिकारीए नर्सिंग स्टूडेंटए साथिनें एवं कैडिट बालिकाएं उपस्थित थी।

पहले दिन ही नहीं ली शिकायत

वन स्टॉप सेंटर के उदघाटन के पहले ही दिन एक महिला अपनी शिकायत लेकर पहुंची। लेकिन पीडि़त महिला को यह कहकर लौटा दिया की । आज तो शुभारंभ ही हुआ है। आज शिकायत नहीं लेेंगे। आप कल आना और शिकायत दे जाना। पीडित महिला ने बताया कि यदि मेरी शिकायत पहले ही दिन ले ली होती तो मुझे लगता कि इस सेंटर का बनने का उदेश्य पूरा हो गया। लेकिन मुझे शिकायत दिए बिना ही लौटना पडा इसका मुझे बहुत अफेसोस है। इधरए प्रभारी मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि महिला की शिकायत लिए बिना ही उसे लौटा दिया गया। यदि एेसा हुआ है तो इस संबंध में जानकारी लेकर कार्रवाई की जाएगी।

[MORE_ADVERTISE1]