स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अलवर के शिशु अस्पताल में नवजात बालक की मौत, परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए किया हंगामा

Lubhavan Joshi

Publish: Nov 14, 2019 09:56 AM | Updated: Nov 14, 2019 09:56 AM

Alwar

अलवर के शिशु चिकित्सालय में नवजात बालक की मौत हो गई, इसके बाद परिजनों ने हंगामा किया और मौके पर पुलिस बुलानी पड़ी।

अलवर. अलवर के गीतानंद राजकीय शिशु चिकित्सालय में बुधवार सुबह नवजात बालक की मौत पर परिजनों ने हंगामा कर दिया। परिजनों ने अस्पताल स्टाफ और चिकित्सकों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया। पुलिस व अस्पताल प्रशासन के अधिकारियों की समझाइश के बाद परिजन शव लेकर चले गए।

जानकारी के अनुसार अकबरपुर फौजदार (नगर-भरतपुर) हाल लड्डू खवास की बगीची अलवर निवासी प्रीतम पुत्र प्रेमसिंह जाटव की पत्नी पूनम को प्रसव के लिए 10 नवम्बर को जनाना अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रात को पूनम ने लड़के को जन्म दिया। तबीयत बिगडऩे पर नवजात को 11 नवम्बर को गीतानंद शिशु चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। बुधवार सुबह नवजात बालक की इलाज के दौरान शिशु अस्पताल में मौत हो गई।

परिजनों ने स्टाफ और चिकित्सकों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। घटना की सूचना मिलने के बाद पीएमओ डॉ. सुनील चौहान और कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंचे। काफी समझाइश और मामले की जांच के आश्वासन के बाद परिजन शांत हुए और बिना पोस्टमार्टम कराए शव को ले गए। नवजात बालक के पिता प्रीतम सिंह का आरोप है कि चिकित्सकों की लापरवाही के कारण उसके बच्चे की मौत हुई है। चिकित्सकों ने बाहर से जांच कराने के लिए भी उन पर दबाव बनाया था। उधर, कोतवाल अध्यात्म गौतम का कहना है कि शिशु अस्पताल में बालक की मौत के बाद परिजनों ने करीब एक घंटे तक हंगामा किया था। समझाइश के बाद परिजन शांत हो गए और शव लेकर चले गए। इस सम्बन्ध में परिजनों ने कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई है।

[MORE_ADVERTISE1]