स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान में अभी लागू नहीं हुआ नया मोटर वाहन अधिनियम, लेकिन लोग हो रहे जागरुक, हेलमेट की भी बिक्री बढ़ी

Lubhavan Joshi

Publish: Sep 16, 2019 17:35 PM | Updated: Sep 16, 2019 17:35 PM

Alwar

New Motor Vehicle Act : प्रदेश में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू नहीं हुआ, लेकिन इसकी चर्चा हर तरफ है, लोग अब नियमों का पालन भी करने लगे हैं।

अलवर. New Motor Vehicle Act : प्रदेश में अभी ( New Motor Vehicle Act ) नया मोटर वाहन अधिनियम लागू नहीं हुआ हो, लेकिन केन्द्र सरकार की ओर से लागू इस नए अधिनियम की घर-घर चर्चा है। अधिनियम में जुर्माना राशि में वृद्धि के प्रावधान का ही असर है कि दो पहिया ही नहीं, चार पहिया वाहन चालकों को भी यातायात नियमों के पालन की याद आने लगी है। केन्द्र सरकार ने गत एक सितम्बर से नया मोटर वाहन अधिनियम लागू किया है। नए अधिनियम में सरकार ने यातायात नियमों का पालन नहीं करने पर वाहन चालक पर जुर्माना राशि दस गुना तक बढ़ा दी है। यानि यातायात नियमों का पालन नहीं करने पर जहां पहले 100 रुपए लगते थे, नए अधिनियम में यह राशि बढ़ाकर एक हजार रुपए कर दी।

अब वाहन चालकों के हेलमेट, सीट बेल्ट, बिना लाइसेंस व अन्य जरूरी कागजात के वाहन चलाने, वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात करने तथा शराब के नशे में वाहन चलाने आदि पर जुर्माना राशि हजार के गुणक में देने का प्रावधान किया है।

वाहन चालकों के सिर सजे हेलमेट

नया मोटर वाहन अधिनियम भले ही प्रदेश में लागू नहीं किया गया है, लेकिन जुर्माना राशि बढऩे का भय वाहन चालकों में इस कदर बैठ गया है कि लोग खुद ही वाहन चलाते समय सिर पर हेलमेट व सीट बेल्ट लगाने लगे हैं। वहीं वर्षों से अलमारी में बंद ड्राइविंग लाइसेंस को भी संभालने लगे हैं। इसके अलावा वाहन प्रदूषण, वाहन रजिस्ट्रेशन सहित अन्य कागजात की याद भी वाहन चालकों को आने लगी है। यानि नए अधिनियम की आहट ने वाहन चालकों में जागरुकता
बढ़ाई है।

हेलमेट की बिक्री बढ़ी

नए मोटर वाहन अधिनियम की आहट से अलवर शहर में हेलमेट विक्रेताओं की बिक्री में भी अचानक तेजी आई है। भगतसिंह चौराहे से जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय मार्ग स्थित हेलमेट विक्रेता विजयसिंह ने बताया कि जब से नए मोटर वाहन अधिनियम लागू होने की चर्चा हुई है, तब से हेलमेट की बिक्री तीन गुना तक बढ़ गई है। अन्य हेलमेट विक्रेताओं के यहां भी बिक्री में अचानक इजाफा हुआ है।

परिवहन विभाग कर रहा जागरुक

परिवहन विभाग लोगों को यातायात नियमों की पालना के लिए जागरुक करता रहा है। पूर्व में परिवहन विभाग ने कार्यालय में लाइसेंस के कार्य के लिए आने वाले लोगों की प्रतिदिन क्लासेज लगाकर यातायात नियमों की पालना के लिए जागरुक किया। इसके अलावा भी विभाग की ओर से यातायात नियमों के पालन के लिए लोगों को जागरुक किया जाता है। लोगों का स्वत: यातायात नियमों के प्रति जागरुक होना भी अच्छी बात है।
अनिल जैन, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी अलवर