स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अलवर में यहां युवक की दिनदहाड़े हत्या, सिर में मारी कुल्हाड़ी, रास्ते में बहा काफी खून

Lubhavan Joshi

Publish: Aug 20, 2019 10:21 AM | Updated: Aug 20, 2019 10:21 AM

Alwar

Murder In Alwar : युवक बाइक पर बैठकर जा रहा था, तभी कुछ लोग आए और उसके ऊपर वार कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

अलवर. अलवर जिले के खैरथल कस्बे के समीपवर्ती ग्राम गिरवास में सोमवार सुबह नौ बजे एक युवक दिनेश उर्फ टिन्नू कंजरकी गांव के बीच रास्ते में ही धारदार हथियारों से हत्या कर दी। जिससे पूरे गांव में भय व्याप्त हो गया।

घटना की सूचना मिलते ही खैरथल थानेदार संजय शर्मा मय पुलिस जाब्ते के गिरवास पहुंचे। यहां पुलिस को आक्रोशित भीड़ ने शव को हाथ नहीं लगाने दिया। ग्रामवासियों व परिजनों ने मांग की जब तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता पोस्टमार्टम नहीं कराने दिया जाएगा । पुलिस ने समझाइश की लेकिन परिजन अपनी मांगों पर अडे रहे। आखिर में अलवर से क्यूआरटी व रिजर्व पुलिस के जवान मंगाए गए। मामले की गम्भीरता को देखते हुए ग्रामवासियों ने मृतक के परिजनों को समझाइश कर शव का पोस्टमार्टम के लिए राजी किया। दोपहर करीब साढे तीन बजे खैरथल के सीएचसी से मृतक का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया।

उधर, मृतक के भाई सुरेश कुमार ने रिपोर्ट दर्ज कराई की उसका छोटा भाई दिनेश उर्फ टिन्नू सोमवार सुबह करीब नौ बजे मजदूरी करने खैरथल मोटरसाइकिल से जा रहा था। गांव के बीच रास्ते में रामकरण पुत्र बाबूलाल बावरिया, गणेश पुत्र लिलीराम ने एकराय होकर कुल्हाड़ी व लोहे की रॉड से दिनेश के सिर के पीछे से वार किया।

भाई पर हुए हमले की सूचना मिलने पर जब परिजन मौके पर पहुंचे तो दिनेश वहां मृत पड़ा था। आस-पास में काफ ी मात्रा में खून बह रहा था। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। रिपोर्ट में बताया कि दिनेश की शादी गणेश पुत्र लिलियाराम बावरिया की बहन सुमन से करीब छह वर्ष पूर्व हुई थी। जिसके एक बच्ची भी है। शादी के दो वर्ष बाद सुमन तलाक लेना चाहती थी। जिसके चलते सुमन ने दो बार दिनेश को जेल भी भिजवाया था। अब सुमन ने अपनी मर्जी से दूसरी जगह शादी भी कर ली है सुमन व उसके भाईं ज्ञानदेव व कैलाश पुत्र मातादीन ने रंजिश के चलते मेरे भाई की हत्या करवा दी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच आरम्भ कर दी है।

बताया जाता है कि मृतक स्वयं भी अपराधी किस्म का व्यक्ति था । लगभग एक दर्जन हत्या करने के मामले में तत्कालीन थानाधिकारी जितेंद्र यादव ने राज खोलते हुए गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ दिनेश उर्फ टिन्नू को गिरफ्तार किया था।

ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराने की मांग

जानकारी के अनुसार अस्पताल से शव को घर ले जाने के बाद परिजन ऑनलाइन एफ आईआर व दोनों गिरवास बावरिया व कंजर गिरवास के लोगों के पंचनामे पर हस्ताक्षर कराने पर अड़े रहे । शाम सात बजे तक शव को अंतिम संस्कार के लिए नहीं ले गए ।पुलिस की ओर से आश्वस्त किया गया कि उनकी एफ आईआर ऑनलाइन दर्ज कर ली गई है। वहीं दोनों गावो के लोग हस्ताक्षर कर दें।जिस पर देर शाम करीब सवा सात बजे मृतक को अंतिम संस्कार के लिए परिजन ले गए । फि लहाल गिरवास गांव में भारी मात्रा में फ ोर्स की तैनाती है।