स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दिवाली पर अचानक दस्त लग जाएं तो तत्काल कराएं दूध की जांच!

Subhash Raj

Publish: Oct 23, 2019 13:22 PM | Updated: Oct 23, 2019 13:22 PM

Alwar

अलवर. दीपावली सिर पर है और ऐसे में अचानक घर के किसी सदस्य को दस्त लग जाएं तो चिकित्सक को दिखाने के साथ ही बिना देर किए घर में लाए जा रहे दूध की जांच कराएं क्योंकि इस समय पूर्वी राजस्थान में मिलावटी दूध की आपूर्ति हो रही है।

दिवाली के अवसर पर मिठाई के अलावा दूध भी संभलकर पीने की जरूरत है। इन दिनों में दूध की सप्लाई हलवाइयों के यहां अधिक बढ़ जाती है। जो मावे से मिठाई बनाते हैं। जिसके कारण गांव से शहर में दूध की सप्लाई बहुत कम हो जाती है। ऐसे में दूध की पूर्ति के लिए मिलावट ही एकमात्र विकल्प बचता है। लेकिन, सबको सावधान रहने की जरूरत है। दूध में मिलावट का संदेह हो तो सरस डेयरी में सैंपल देकर नि:शुल्क जांच करा सकते हैं।
सरस डेयरी में दूध की कमी: सरस डेयरी में इन दिनों दूध की आवक करीब 25 हजार लीटर से अधिक कम हो गई है। जिससे दूध की सप्लाई पर भी असर पड़ा है। अकेले अलवर शहर में दस हजार लीटर दूध की सप्लाई कम होने लगी है। यही नहीं फुल क्रीम दूध का उत्पादन काफी कम हो गया है। जिसकी बाजार में मांग भी अधिक है।
खुद सैंपल लेकर आएं: यदि आपको लगता है कि दूध में मिलावट है। किसी भी तरह का संदेह तो उसकी निशुल्क जांच करा सकते हैं। अपने घर से दूध का सैंपल लेकर सरस डेयरी भवानी तोप जाएं। वहां तुरंत सैंपल की जांच कर यह बताया जाएगा कि दूध में मिलावट है या नहीं। दूध में किस चीज की मात्रा अधिक है। यह सब पता चल सकेगा। इससे भ्रम भी दूर हो सकेगा। कहीं कोई अधिक नुकसान पहुंचाने वाली चीज की मिलावट तो नहीं है।
बच्चों को पिलाने में डर: हरेक घर में बच्चों की खातिर दूध जरूर लिया जाता है। जब दूध में मिलावट होने पर बच्चों को नुकसान भी हो सकता है। कई बार दस्त जैसी शिकायत मिलावट के दूध से हो जाती है। चिकित्सकों का कहना है कि दूध का स्वाद, उसका रंग, गर्म करने पर अलग तरह की खुशबू आने पर ही जांच जरूर कराएं।