स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंचायत में कबाड़ बन रही डिजिटल इंडिया मशीन

Shyam Sunder Sharma

Publish: Dec 12, 2019 00:03 AM | Updated: Dec 12, 2019 02:08 AM

Alwar

एक साल में बीमार हो गई ई-मित्र प्लस योजना


अलवर. आमजन को डिजिटल लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गई ई-मित्र प्लस योजना एक साल में दम तोड़ गई। मांढण क्षेत्र सरकारी कार्यालयों व ग्राम पंचायतों में रखी मशीनें शो -पीस बन गई। अब इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं दिखता।
सूचना प्रौद्योगिकी विभाग एवं संचार विभाग की और से डिजिटल इंडिया मिशन के तहत यह मशीनें सरकारी कार्यालयों में लगाई गई थी। जिससे की आमजन दफ्तरों से संबंधित सभी आवश्यक सूचनाए इससे प्राप्त कर ले नीमराणा पंचायत समिति के प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक-एक ई-मित्र प्लस मशीन रखवाई गई थी लेकिन ग्रामीणों क्षेत्रों में इनकी इंटरनेट से कनेकीवीटी ही नहीं की गई ।
यहां इनको चलाने की जानकारी भी किसी को भी नहीं दी बताई। कुछ ग्राम पंचायतों में तो मशीनों को इंस्टाल तक भी नहीं किया गया बताया। ऐसे में यह मशीनें काम नहीं आई । आलम यह की ग्राम पंचायतों में रखी मशीनों की धूल साफ नहीं हो रही है। सरकारी कारिंदे सरकार की योजना को लेकर चिंतित नजर नहीं आ रहे । जबकि हाल ही में मुख्यमंत्री ने अपने बजट में घोषणा के तहत तहसील व उपतहसील में इन मशीनों को लगवाने की घोषणा की थी।


ये होना था काम
ई-मित्र प्लस सर्विस एटीएम के माध्यम से लोगों को सरकारी सेवा जैसे बिजली पानी के बिल जमा कराना, जमाबंदी नकल प्राप्त करना, जाति प्रमाण पत्र प्रिंट कराना, विवाह प्रमाण पत्र,जन्म मुत्यु प्रमाण पत्र,दिव्यांग पंजीकरण प्रमाण पत्र सहित कई प्रकार की सुविधा आमजन बिना किसी सहायता से प्राप्त कर सकते थे। इस मशीन में पीवीसी कार्ड प्राप्त करने की सुविधा है इस मशीन में 32इंच की एलईडी स्क्रीन व 17 इंच की स्क्रीन सीपीयू वेब कैमरा ,केश असेप्टर, कार्ड रीडर, प्रिंटर आदि की सुविधा है। वहीं ग्राम पंचायत स्तर पर लगी मशीन में उपलब्ध दूसरी वीडियो कॉन्फ्रेंस की भी सुविधा है ।

जानकारी लेते है
राजीव सेवा केंद्र पर ई-मित्र प्लस मशीन क्यों बंद है, इसकी जानकारी लेते है और ई-मित्र प्लस मशीन को चालू करवाते है।

ज्योति सैनी, सरपंच ग्राम पंचायत मांढण

[MORE_ADVERTISE1]