स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नहीं हो रही डेंगू की जांच

Pradeep kumar yadav

Publish: Oct 22, 2019 08:00 AM | Updated: Oct 22, 2019 01:05 AM

Alwar

मरीज हो रहे परेशान

अलवर. बहरोड़ सीएचसी, पीएचसी व निजी लेबोरेट्री पर कही पर भी बहरोड़ में डेंगू के मरीजों की जांच नहीं होती है। कहने को तो १०० बैड का राजकीय रेफरल अस्पताल उपखण्ड क्षेत्र का सबसे बड़ा अस्पताल है लेकिन उसके बाद भी यहां पर अभी तक डेंगू की जांच शुरू नहीं हो पाई है। ऐसे में चिकित्सा विभाग द्वारा डेंगू के मरीजों की पहचान करना बड़ी मुश्किल हो रहा है। इन दिनों डेंगू,मलेरिया व वायरल बुखार ने अपना कहर बरपाया हुआ है। राज्य में रोजाना कही न कही पर डेंगू के मरीज सामने आ रहे है। वहीं बहरोड उपखंड क्षेत्र में भी तीन चार डेंगूू के मरीज सामने आ चुके है। चिकित्सा विभाग ने डेंगू की जांच अलवर या फिर जयपुर से करवाई जाती है। चिकित्सक जिस मरीज की प्लेट्स पचास हजार से कम आती है उसी को आधार मानकर मरीज का डेंगू का ईलाज शुरू कर देते है। रेफरल अस्पताल में बहरोड़ के साथ ही नीमराणा, बानसूर व मुंडावर उपखण्डों के मरीज भी पहुंचते है। लेकिन इन सब के बावजूद चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग द्वारा अभी तक बहरोड में डेंगू की जांच के लिए किसी तरह की पहल नहीं की है। राज्य सरकार मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच योजना के तहत मरीजों की अनेक जांच नि:शुल्क करा रही है जबकि डेंगू की जांच के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। बीएसएमओ कार्यालय से जानकारी अनुसार बहरोड उपखंड क्षेत्र में दो तीन डेंगू की बीमारी के मरीज सामने आ चुके है। जिनकी जांच विभाग जयपुर में करवा कर ईलाज दिया गया। रेफरल अस्पताल प्रभारी डॉ सुरेश यादव ने बताया कि बहरोड़ में किसी भी सरकारी अस्पताल व निजी लेबोरेट्री के अंदर डेंगू बुखार के लिए जांच सुविधा उपलब्ध नहीं है। इसके लिए उन्हें मरीज के ब्लड के सेम्पल लेकर अलवर जिले मुख्यालय व जयपुर भेज कर जांच करवाई जाती है।