स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

deepawali festiwal news दीपावली पर लौटी बाजारों की रौनक, हर तरफ सजने लगा बाजार

Prem Pathak

Publish: Oct 21, 2019 06:00 AM | Updated: Oct 21, 2019 00:02 AM

Alwar

deepawali festiwal news दीपावली के नजदीक आते ही अलवर के बाजारों में रौनक नजर आने लगी है। सबसे ज्यादा चहल पहल अलवर शहर के सबसे व्यवस्तम बाजार होप सर्कस के चारों तरफ नजर आ रही है।

अलवर . deepawali festiwal news दीपावली के नजदीक आते ही अलवर के बाजारों में रौनक नजर आने लगी है। सबसे ज्यादा चहल पहल अलवर शहर के सबसे व्यवस्तम बाजार होप सर्कस के चारों तरफ नजर आ रही है। यहां पर दुकानदारों व ग्राहकों में खरीददारी का उत्साह उमंग और जोश दिखाई दे रहा है। जो ग्राहक बाजार में आ रहा है। वह कुछ ना कुछ लेकर ही लौट रहा है। ग्राहकों को लुभाने के लिए दुकानों को बहुत ही सुंदर तरीके से सजाया गया है जिसे देखते ही एक बार तो ग्राहक दुकान पर आ ही जाता है। ग्राहकों के बाजार में आने से हर तरफ भीडभाड दिख रही है। दुकानों के आगे वाहनों के खड़े होने से बाजार में पैर रखने की जगह नहीं मिल पा रही है। जो जगह बची हुई है वहां पर गुजरात व महाराष्ट्र से आए लोग सामान बेचते नजर आ रहे हैं। ये लोग हर साल दीपावली पर ही अलवर आते हैं और फ्रिज कवर, सोफा कवर, टीवी कवर के साथ साथ अन्य सामानों के कवर भी बेच रहे हैं। जिधर, देखो उधर बस दुकानें ही दुकानें सजी हुई है। घर को सजाने के लिए डिजायनर डकोरेटिव आइटम की कोई कमी नहीं है।

बाजार में सबके लिए है कुछ नया, हर सामान की है मांग

इधर, दीपावली पर होने वाली मिठाई की अधिक बिक्री के लिए मिठाई वाले एडवांस में मिठाई तैयार करने लगे हैं और पंसारी पूजन सामग्री और मेवा की पैकिंग करने में लगे हुए हैं। शहर के पंसारी बाजार, केडलगंज में तो दुकानदारों का उत्साह तो देखते ही बन रहा है। इनके पास सांस लेने तक की फुर्सत नहीं है। इधर होपसर्कस के परकेाटे के अंदर कहीं जमीन पर मिटटी के बर्तन सजे हुए तो कहंी रंग बिरंगे पोस्टरों से बाजार अटा हुआ है। होपसर्कस के गलियारों में तो पैर रखने की जगह नहीं है यहां पर दुकानदारों ने प्लास्टिक के घरेलू उपयोगी सामान, गिफ्ट आइटम, चददरें आदि सजाए हुए हैं। बाजारों में बच्चों से लेकर बडों तक सबके लिए कुछ खास आया है। दुकानों पर सजा सामान सबको लुभा रहा है। नगर परिषद के सामने भी मिटटी के बर्तन व दीयों की बिक्री का बाजार अब सजने लगा है। दीपावली पूजन की सामग्री को लेने के लिए ग्राहक भी आने लगे हैं। शहर के बजाजा बाजार, सर्राफा बाजार, रोड नंबर दो, भगत सिंह चौराहा आदि पर ज्वैलर्स के यहां पर ग्राहक भी सोने चांदी की ज्वैलरी देखने आ रहे हैं। शहर के मालन की गली, तिलक मार्केट और चूडी मार्केट में डिजायनर साडियों की भरमार है। फेस्टिव सीजन को देखते हुए नया स्टॉक आया हुआ है। जिसे देखने के लिए महिलाओं के समूह आ रहे हैं।
रेडीमेड कपड़ों की है भारी मांग

दीपावली पर कोई कुछ अलग दिखना चाहता है। इसलिए टे्रडिशनल लुक से हटकर बहुत कुछ नई वैरायटी बाजार में आई हुई है। रेडीमेड गारमेंट के विक्रेता अनुराग शर्मा ने बताया कि समय के साथ साथ युवाओं की पसंद भी बदल रही है। गल्र्स इन दिनों मौसम व फेस्टिवल को देखते हुए ड्रेस का चयन कर रही हैं, ज्यादातर गलैमर्स लुक देने वाली कुर्तियां, लौंग कुर्ता, गरारा शरारा इन दिनों मांग में है। बॉयज भी ट्रेडिशनल कुर्ता पायजामा से ज्यादा इंडो वेस्टर्न ड्रेस पसंद कर रहे हैं।

बेरोजगारों को मिला काम
दीपावली पर बाजारों में काम अधिक रहता र्है। इसलिए दुकानों पर काम करने के लिए लडक़े व लड़कियों की भारी मांग है। मांग इतनी ज्यादा है कि अधिक कीमत पर भी इनको रखा जा रहा है। इससे बेरेाजगारों को काम भी मिल रहा है। एक दुकान पर तीन से चार लोग काम के लिए रखे हुए हैं।