स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फर्जी एसआई बनकर साइबर ठगी

Shyam Sunder Sharma

Publish: Aug 19, 2019 18:43 PM | Updated: Aug 20, 2019 12:16 PM

Alwar

कई लोग ठगी से बचे

कठूमर. कस्बे में शनिवार देर शाम को एक मोबाइल मिस्त्री रामेश्वर दयाल शर्मा से एक व्यक्ति ने फर्जी एसआई बन कर तीन हजार रुपए की साइबर ठगी करने का मामला सामने आया है। हालांकि अभी तक इस घटना को लेकर पीडि़त की ओर से पुलिस थाने में कोई मामला दर्ज नहीं कराया गया है। वहीं फर्जी व्यक्ति ने उसी नंबर से रविवार सुबह कस्बे के कुछ मैकेनिकों को फोन किया था। लेकिन वे फर्जी व्यक्ति के झांसे में नहीं आए और ठगी होने से बच गए।

मसारी गांव निवासी जो कठूमर में तहसील के सामने मोबाइल रिपेयरिंग व विक्रय करने का कार्य करता है। शनिवार शाम करीब सवा सात बजे उसके पास एक व्यक्ति का फोन आया और उसने आप को एसआई बताया।
उसने बातों ही बातों में रामेश्वर को बताया कि वह किसी काम से खेड़ली आया है और बेटी को मोबाइल दिलाना है। इस पर इस व्यक्ति ने मिस्त्री से ऑनलाइन मोबाइल मंगवाने की बात कही और उसका खाता नंबर मांग लिया। बाद में उसने रामेश्वर को फोन करके कहा कि मैंने आपके खाते में साढ़े तीन हजार रुपए डाल दिए हैं ।आप मैसेज चेक करो। रामेश्वर ने खाता चेक करने पर रुपए नहीं आए तो उसने इसकी जानकारी उस व्यक्ति को दी। इस पर उसने ने कहा कोई टेक्निकल प्रॉब्लम की वजह से रूपे शो नहीं हो रहे हैं मैं तीन हजार रुपए आपके खाते में और डाल देता हूं। रामेश्वर के पास ने तीन हजार रुपए का नोटिफिकेशन मिलते ही उसने उसे ओके कर दिया। इसके बाद उसने देखा तो उसके खाते में से तीन हजार रुपए निकाल लिए गए।
जिस पर रामेश्वर ने उक्त व्यक्ति को फोन करके कहा कि तुम तो मुझे ठग लगते हो। मेरे खाते में से तीन हजार रुपए निकाल लिए। इतना सुनने के बाद उक्त व्यक्ति ने मिस्त्री का फोन काट दिया। और बार- बार करने के बाद भी फोन नहीं उठाया। इस प्रकार आधे घंटे के अंदर मोबाइल मिस्त्री से तीन हजार रुपए की साईबर ठगी हो गई।