स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

36 कौम के लोगों का साथ विवाह हुआ, यही मेरे यहां आने का मकसद- गहलोत

abdul bari

Publish: Nov 08, 2019 23:24 PM | Updated: Nov 08, 2019 23:26 PM

Alwar

थानागाजी के अंगारी गांव में शुक्रवार को सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन ( mass marriage conference in Alwar ) का आयोजन किया गया। विधायक कांति प्रसाद मीणा की ओर से भामाशाहों और ग्रामीणों के सहयोग से हुए इस सम्मेलन में प्रदेश के मुख्यमंत्री आशोक गहलोत ( Cm Ashok Gehlot ) और पीसीसी अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ( Deputy CM Sachin Pilot ) पहुंचे।

 

 

अलवर.
थानागाजी के अंगारी गांव में शुक्रवार को सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन ( mass marriage conference in Alwar ) का आयोजन किया गया। विधायक कांति प्रसाद मीणा की ओर से भामाशाहों और ग्रामीणों के सहयोग से हुए इस सम्मेलन में प्रदेश के मुख्यमंत्री आशोक गहलोत ( Cm Ashok Gehlot ) और पीसीसी अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ( Deputy CM Sachin Pilot ) पहुंचे। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि विधायक कांति मीना ने सबको साथ लेकर इतना बड़ा कार्य किया, उसके लिए मैं उन्हें बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

ऐसी परंपरा अन्य लोग अपनाएंगे तो बेहद अच्छा लगेगा ( alwar news )

गहलोत ने कहा कि जातिगत विवाह समारोह तो होते रहते हैं, लेकिन यहां सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया है, यही मेरे यहां आने का मकसद है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 36 कौम के लोग सामूहिक विवाह सम्मेलन में भाग लें, इससे बड़ी बात नहीं हो सकती। कांति मीना अपने बेटे की शादी इस विवाह सम्मेलन में कर रहे हैं, यह बहुत बड़ी बात है। ऐसी परंपरा अन्य लोग अपनाएंगे तो बेहद अच्छा लगेगा। प्रदेश में काफी अरसे से सामूहिक विवाह हो रहे हैं, लेकिन 140 जोड़ों का सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन में शामिल होना, वाकई में खास है। पायलट ने संबोधन के बाद मंच से उतरकर नव विवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया।

पायलट ने भी दी शुभकामनाएं

पीसीसी उपाध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने विधायक मीना और नवविवाहित जोड़ों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आमतौर पर राजनेता शादियों में बड़े आयोजन करते हैं, लेकिन विधायक कांति मीना ने जो कार्य किया है, इससे राजनेताओं की अच्छी छवि बनती है। पायलट ने कहा कि हम सब विधायक कांति मीना के न्यौते पर यहां पहुंचे हैं। इसके बाद पायलट विवाह स्थल पहुंचे और नव विवाहितों को आशीर्वाद दिया।

सामूहिक विवाह सम्मेलन समय की मांग

इस अवसर पर मुख्यमंत्री गहलोत ने केन्द्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उनके मंसूबे ठीक नहीं है। भाजपा के मणिपुर और गोवा में सरकार बनाने को उन्होंने लोकतंत्र के लिए खतरनाक बताया। गहलोत ने कहा कि देश में लोकतंत्र खत्म हो रहा है। देश में भय, आतंक और हिंसा का माहौल है। आर्थिक स्थिति खराब हो रही है। भाजपा ने दो करोड़ नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन इसके उलट लोगों की नौकरियां जा रही हैं। जिस तरह के हालात पर देश चल रहा है, ऐसे समय में सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन करना समय की मांग भी है। गहलोत ने नोटबंदी के तीन साल पूरे होने पर उसे विफल करार दिया, गहलोत ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के बाद आर्थिक हालात गंभीर हैं, लेकिन हम प्रदेश के विकास में कोई कमी नहीं आने देंगे।

थानागाजी के लिए तीन घोषणाएं ( Thanagazi )

सामूहिक विवाह सम्मेलन में शामिल होने आए मुख्यमंत्री गहलोत ने कांति मीना और ग्रामीणों की मांगे मानते हुए थानागाजी के लिए तीन घोषणाएं की। गहलोत ने प्रतापगढ़ पीएचसी को सीएचसी, नीमला और बसई जोगियां में पीएचसी की घोषण की।

यह खबरें भी पढ़ें...

अलवर: विवाह सम्मेलन में एक-दूसरे के हुए 140 जोड़े, CM गहलोत और डिप्टी CM पायलट भी हुए शामिल

राममंदिर पर फैसले से पहले सरकार अलर्ट, CM गहलोत ने ली बैठक

पांच हजार की रिश्वत लेते कांस्टेबल को रंगे हाथो किया गिरफ्तार

जयपुर में मानव तस्करी विरोधी यूनिट की कार्रवाई, 15 बच्चे कराए मुक्त, दो गिरफ्तार

[MORE_ADVERTISE1]36 कौम के लोगों का साथ विवाह हुआ, यही मेरे यहां आने का मकसद- गहलोत[MORE_ADVERTISE2]