स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कलाकंद के नाम पर भी धोखा: असली पर नकली भारी

Pradeep kumar yadav

Publish: Dec 08, 2019 04:00 AM | Updated: Dec 08, 2019 02:35 AM

Alwar

संडे स्पेशल मुद्दा: जिले में बढ़ रहा मिलावटी कारोबार, कार्रवाई के अभाव में मिलावटखोरों का दुस्साहस बढ़ा

अलवर/भिवाड़ी. देश भर में अलवर की पहचान बने कलान्द के नाम भी अब बड़े पैमाने धोखा किया जा रहा है। कलाकंद उत्पादन में असली पर नकली का कारोबार बढऩे से अब अलवर के नाम पर बदनुमा दाग लगने लगा है। चंद रुपयों की खातिर मिलावटखोर दूध व कलाकंद में रासायनिक व हानिकारक तत्वों की मिलावट कर न केवल अलवर का बदनाम कर रहे हैं, बल्कि लोगों को कई तरह के शारीरिक जख्म भी दे रहे हैं। हालांकि मिलावटखोरी का यह अवैध कारोबार कुछ ही लोगों तक सीमित है, लेकिन कई बार इसका नुकसान इमानदारी से कार्य करने वालों को उठाना पड़ा है।
जिले के किशनगढ़बास, खैरथल, तिजारा, लक्ष्मणगढ़ सहित अन्य कई गांवों में कलाकंद के नाम पर मिलावट का खुला खेल किया जाता रहा है। प्रशासन की अनदेखी के चलते इन स्थानों पर बड़े पैमाने पर नकली व मिलावटी कलाकंद तैयार कर दिल्ली व अन्य राज्यों व शहरों में भेजा रहा है। वहीं जिले में भी एेसे कलाकंद की खपत कम नहीं है। अलवर के मेवात क्षेत्र में मिलावटखोर सक्रिय है और दूध के मावे की जगह लोगों को सिंथेटिक मावा दे रहे है।
ग्रामीण क्षेत्रों में सुरक्षित महसूस करते हैं : शहर के अंदर कई बार नकली मावा के कारोबार पर छापेमारी होने के बाद यह कारोबार ग्रामीण क्षेत्रों में फैल रहा है। ये लोग खेतों में भट्यिां चलाकर सुबह ही अपने माल को दूर-दराज से आने वाले सप्लायर्स तक पहुंचाते हैं।
रात के अंधरे में बनाते हैं मावा: नकली मावा तैयार करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में चुनिंदा स्थानों पर कारखाने स्थापित कर रखे है जो शाम ढलने के बाद ही आबाद हो जाते हैं और सूरज निकलने से पहले ही बंद हो जाते हैं। ये कारखाने किशनगढ़बास, तिजारा, खैरथल के कई गांवों में खुले आम चल रहे हैं।
तिजारा क्षेत्र में मिलावटी मावे का खेल
तिजारा ञ्च पत्रिका. क्षेत्र के गांवों में कई साल से मिलावटी मावा एवं कलाकन्द की भट्टियां चल रही है । ये मिलावटी मावा व कलाकन्द जो करीब १०० रुपए से 150 रुपए प्रति किलो ***** सेल में शहरों की कई बड़ी दुकानों पर बिक रहा है । वही हरियाणा के गुडग़ांवा, दिल्ली सहित देश के हर बड़े शहरों में सप्लाई किया जा रहा है।

[MORE_ADVERTISE1]