स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अलवर में भाजपा-कांग्रेस पर जमकर बरसी बसपा सुप्रीमो मायावती, एक-दूसरे को बताया चाचा-भतीजे की पार्टी

Hiren Joshi

Publish: Apr 28, 2019 16:00 PM | Updated: Apr 28, 2019 16:00 PM

Alwar

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अलवर में सभा को संबोधित करते हुए भाजपा व कांग्रेस पर हमला बोला।

अलवर. अलवर लोकसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी इमरान खान के समर्थन में जनसभा को संबोधित करने पहुंची बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भाजपा व कांग्रेस पर हमला बोला। मायावती ने भाजपा व कांग्रेस को चाचा और भतीजे की पार्टी बताया। मायावती ने में जनसभा के दौरान कांग्रेस पर गरीबी और बेरोजगारी हटाने के वादे को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया। वहीं मायावती ने भाजपा को जुमलेबाजी व नाटकबाजी करने वाले लोगों की पार्टी बता डाला। मायावती ने भाजपा पर पिछले चुनावों में किए गए वादे पूरे नहीं करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इस बार कांग्रेस व भाजपा से सतर्क रहना है, इनके लुभावने वादे और घोषणा पत्र पर नहीं जाना है और केन्द्र मे बसपा की सरकार बनानी है। मायावती ने कहा कि भाजपा कितना भी चौकीदार का नाटक कर ले, उसे इस बार सत्ता से जाना ही होगा।

मायावती ने कहा कि अंग्रेजों के जाने के बाद लंबे समय तक केन्द्र और राज्यों में कांग्रेस पार्टी सत्ता पर काबिज रही है, लेकिन कांग्रेस के लंबे समय के शासनकाल दलित, पिछड़ों की स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ। कांग्रेस के राज में राजस्थान के लोगों ने रोजी-रोटी के लिए पलायन किया। मायावती ने कहा कि डॉ. अम्बेडकर ने भारतीय संविधान में दलितों को आगे बढऩे के लिए कानूनी अधिकार दिए। लेकिन उनका भी लाभ नहीं मिल पाया। आरक्षण का कोटा अधूरा पड़ा रहा, जुल्म भी दलितों को बराबर होते रहे। इसके बाद 14 अप्रेल 1984 को बहुजन समाज पार्टी का गठन किया गया। हम सत्ता में नहीं आ सके, इसलिए भाजपा को सत्ता में लाने का निर्णय किया। भाजपा को भी सत्ता में लाकर देख लिया, लेकिन भाजपा के शासन काल में भी कुछ नहीं हो सका। इसलिए भाजपा भी कांग्रेस के पदचिन्हों पर चल रही है। दोनों पार्टियों की सोच में कोई अंतर नहीं है। मायावती ने दोनों पार्टियों को एक ही थाली का चट्टा-बट्टा बताया।

भाजपा कांग्रेस धन्ना सेठों की पार्टी-मायावती

मायावती ने कहा कि भाजपा कांग्रेस गरीबों की नहीं, धन्ना सेठों की पार्टी है। मायावती ने कहा कि भाजपा इस बार केन्द्र की सत्ता से बाहर जाएगी। मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले लोकसभा चुनाव में देश के गरीबों व अन्य लोगों को अच्छे दिन दिखाने के वादे किए थे, उसका एक-चौथाई कार्य भी पूरा नहीं किया गया है। मायावती ने भाजपा सरकार को पूंजीपतियों की चौकीदारी करने का आरोप लगाया। मायावती ने दलितों को प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण की मांग की। उन्होंने कहा कि दलितों व पिछड़े वर्ग के लोगों को प्राइवेट सेक्टर में काफी काम पड़ते हैं, लेकिन वहां इनका शोषण होता है। अंत में मायावती ने अलवर लोकसभा सीट से बसपा प्रत्याशी इमरान खान को जिताने की अपील की।