स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गुस्साए लोगों ने पंचायत समिति पर जड़ दिया ताला

Kailash Chand Sharma

Publish: Sep 17, 2019 17:14 PM | Updated: Sep 17, 2019 17:14 PM

Alwar


लगाया कार्यवाहक विकास अधिकारी तब माने


बहरोड़ समिति में पद रिक्त होने से हो रही परेशानी को लेकर सोमवार को सरपंच संघ ने तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन किया।
सरपंच संघ अध्यक्ष देवेन्द्र यादव ने बताया कि पिछले बीस दिन से पंचायत समिति के विकास अधिकारी सहित कई पद रिक्त हैं। विधायक पंचायत समिति में दखलंदाजी कर रहे हैं, जिसके कारण गांवों में मनरेगा सहित अन्य विकास कार्य बंद पड़े हैं। विकास कार्य नहीं होने से खफा होकर धरना दिया गया। जब तक मांग नही मानी जाएंगी धरना बंद नहीं होगा। दोपहर में पूर्व मंत्री जसवंत सिंह ने पहुंच कर सरपंचों का समर्थन किया। प्रधान प्रतिनिधि अजीत यादव ने कहा कि विधायक की दखलंदाजी के चलते पंचायत समिति के सारे काम ठप पड़े हंै, जिससे लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। धरने पर पहुंचे पूर्व मंत्री यादव ने कहा कि सरकार द्वारा ही गरीब लोगों को परेशान किया जा रहा है।

पूर्व मंत्री ने विधायक पर लगाए आरोप
पूर्व मंत्री डॉ. जसवंत यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसी सरकार व विधायक आज तक नहीं देखा, जो काम में बाधा डालते हो। उन्होंने स्थानीय विधायक को दलाल की संज्ञा देते हुए आरोप लगाया कि क्षेत्र में भ्रष्टाचार और अपराध बढ़ रहे हैं। इससे लोगों को नुकसान हो रहा है। पिछली भाजपा सरकार में एसपी ऑफिस बहरोड़, नीमराणा में खोलने की बात हुई थी, लेकिन विधायक की कमजोरी के चलते ऐसा नहीं हुआ। इस अवसर पर प्रधान रीना यादव, देशराज खरेरा, खोहरी सरपंच राजेश खिलाड़ी, कारोढा सरपंच सुरेन्द्र चौधरी, एमपीएस सतीश निमोरिया, रामबाबू यादव आदि उपस्थित रहे।
&दो नंबरी और भ्रष्टाचारियों से जो दलाली मिलती थी वो बंद हो गई तो पूर्व विधायक का बिलबिलाना वाजिब है। इसलिए धरना देने दस लोगों को लेकर आए थे और दस मिनट में चले गए। अगर कभी जनता को असुविधा हुई तो इसका अंजाम भुगतने और जबाव देने को तैयार रहें।
बलजीत यादव, विधायक बहरोड़
प्रशासन ने लगाया कार्यवाहक विकास अधिकारी
पंचायत समिति पर धरने की खबर राजस्थान सरकार एवं प्रशासन को लगने पर धरने पर बैठे सरपंचों की तुरन्त बात मानते हुए कलक्टर व सीओ ने अस्थाई विकास अधिकारी लगाने की बात कही और पंचायत प्रसार अधिकारी देवेन्द्र यादव को कार्यवाहक विकास अधिकारी का भार देने का पत्र जारी किया गया। इसके साथ ही अकाउंटेंट भी बानसूर व अलवर से लगाने के लिए कहा। कार्यालय पर मेल पर आर्डर पत्र आने के बाद धरना समाप्त किया गया और ताला खोल सुचारू रूप से काम शुरू किए गए। प्रधान प्रतिनिधि यादव ने कहा कि यहां पंचायत समिति में पिछले दिनों से विकास अधिकारी का पद खाली था, जिसके लिए सरपंच अलवर भी गए थे लेकिन इनकी कोई मांगे मानी नहीं। जिस पर सरपंचों ने प्रधान व जनप्रतिनिधि के साथ मिलकर सहयोग की बात कही और धरना प्रदर्शन किया गया।