स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रदेश तो दूर, अलवर ग्रामीण में भी शुरू नहीं हो पाया फूड प्रोसेसिंग प्लांट

Prem Pathak

Publish: Dec 21, 2019 13:07 PM | Updated: Dec 21, 2019 13:07 PM

Alwar

राज्य में अशोक गहलोत सरकार के एक साल के कार्यकाल को प्रभारी मंत्री से लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता बेमिसाल बता जश्न में डूबे हैं। लेकिन इन 12 महीनों में कांग्रेस सरकार ने अपने राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी के हर विधानसभा क्षेत्र में फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने के वादे की ओर झांक कर नहीं देखा।

अलवर. राज्य में अशोक गहलोत सरकार के एक साल के कार्यकाल को प्रभारी मंत्री से लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता बेमिसाल बता जश्न में डूबे हैं। लेकिन इन 12 महीनों में कांग्रेस सरकार ने अपने राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी के हर विधानसभा क्षेत्र में फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने के वादे की ओर झांक कर नहीं देखा।

विधानसभा चुनाव के दौरान मालाखेड़ा कस्बे में 4 दिसम्बर 2018 को आयोजित चुनावी सभा में राहुल गांधी ने सरकार बनने पर हर विधानसभा क्षेत्र में एक-एक फूड प्रोसेसिंग प्लांट शुरू करने का वादा किया था। चुनाव के बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार ने एक साल का कार्यकाल भी पूरा कर लिया, लेकिन फूड प्रोसेसिंग प्लांट घोषणा अधर में है।

मुख्यमंत्री गहलोत व उप मुख्यमंत्री पायलट भी थे मौजूद

मालाखेड़ा की जनसभा में जब राहुल गांधी हर विधानसभा क्षेत्र में फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने का वादा कर रहे थे, तब वर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट समेत कांग्रेस के राष्ट्रीय, प्रदेश व जिले के आला नेता भी मौजूद थे। अलवर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से तब कांग्रेस के प्रत्याशी और अब राज्य के श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली भी मौजूद थे। सभा में राहुल गांधी ने कहा था कि जहां आप आलू उगाते हो, वहां चिप्स की फैक्ट्री, जहां टमाटर उगाते हो वहां कैचअप, प्याज उगाते हो, वहां प्याज को प्रोसेस करने की फैक्ट्री, हम पूरा जाल बिछा देंगे राजस्थान में फूड फैक्ट्री का।

अलवर में आंवला, टमाटर, प्याज की अच्छी पैदावार

अलवर जिले में आंवला, टमाटर व प्याज की अच्छी पैदावार होती है, लेकिन यहां फूड प्रोसेसिंग यूनिट नहीं होने से इनका पूरा उपयोग नहीं हो पाता।

[MORE_ADVERTISE1]