स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

निकाय चुनाव में क्रॉस वोटिंग कराने के लिए हुआ लाखों का सौदा, सामने आया पति-पत्नी का सनसनीखेज ऑडियो, सुनकर उड़ गई नेताओं की नींद

Lubhavan Joshi

Publish: Nov 29, 2019 11:19 AM | Updated: Nov 29, 2019 11:19 AM

Alwar

Alwar Nagar Parishad BJP Voting Audio : अलवर नगर परिषद में क्रॉस वोटिंग के लिए लाखों का सौदा होने का ऑडियो सामने आया है। ऑडियो सामने आने से बड़े-बड़े नेताओं की नींद उड़ गई है।

अलवर. alwar nagar parishad BJP Voting Audio : नगर परिषद सभापति की कुर्सी हाथों से फिसल जाने के गम से भाजपा उबरने की कोशिश कर ही रही थी कि गुरुवार को वायरल हुए एक ऑडियो ने उसकी नींद उड़ा दी। ऑडियो में पार्टी की बाड़ेबंदी में मेहमानबाजी का लुत्फ उठा रहे एक नेता और उसकी पत्नी के बीच सभापति चुनाव के दौरान की जा रही हार्स ट्रेडिँग सम्बंधी लम्बी बातचीत सुनाई दे रही है। नाश्ते में मटन-चिकन से लेकर सब कुछ उपलब्ध होने के जिक्र से लेकर भाजपा प्रत्याशी धीरज जैन के पक्ष और विपक्ष में पडऩे वाले सम्भावित वोट तथा उनके भाव की बात खुलकर की जा रही है।

ऑडियो हारे हुए प्रत्याशी धीरज जैन के इन आरोपों की पुष्टि करता हुआ प्रतीत हो रहा है जिसमें जैन ने पार्टी के कुछ नेताओं पर उन्हें हराने की साजिश का आरोप लगाया था। धीरज ने बयान दिया था कि भाजपा ने ही भाजपा को हरा दिया। ऑडियो में कहा जा रहा है कि जैन से 10 लाख रुपए दिला देंगे और उस को मना भी कर देेंगे कि वोट भी नहीं देना है। ऑडियो से साफ हो गया कि क्रॉस वोटिंग पार्षदों ने अपनी मर्जी से नहीं बड़ों के इशारे पर की।

नेता व उनकी पत्नी की कथित बातचीत का ऑडियो

नेता: हैलो
पत्नी : हैलो, अरे फोन तो कर लिया करो।

नेता: नाश्ता ले रहे हैं जैन साहब का
पत्नी : बढिया नाश्तो करा रो होगो आजकल तो

नेता: ऐसा है चिकन मटन कुछ भी खाओ, सब
पत्नी : फोन किसका है, रिकॉर्डिंग थोड़े ही है इसमें

नेता:ना, कसम खा रो है
पत्नी : पार पड़ ना रही धीरज की कैसे भी।

नेता: कैसे फील्डिंग होगी के कौन कौन की
पत्नी : तुम्हारे वहां से दुल्ली, अंगूरी, खाम्बरा और ये जो जैन है ना एक भी ना दें।

नेता: पांच तो ये गया।
पत्नी : बीना नरूका है वो कांग्रेस की तरफ है।

नेता:वो कहंीं ना जा रही।
पत्नी : मैंने उससे कहा मैं कहूं वहां जानो है। बोल दिया तू कोई की साई मत ले। होकर आ गई।

नेता: काई बोली चल जाऊंगी।
पत्नी : बोली आप कहोगी वहां जाऊंगी।

नेता: पैसा
पत्नी : पांच

नेता: पांच मै ही आ जाएगी।
पत्नी : वे ना दे रहा। उधर, रामबहादुर व इधर नरूका की रिश्वेतदार है। वह तेजू कहेगो वहां जावेगी

नेता: अपना तेजू, क्यों
पत्नी : हां, तेजू के भतीजे ने ही तो जिताई है।

नेता: तो यह तय है अपन जहां बुलाएंगे वहां आ जावेगी।
पत्नी : हां

नेता: जो उनके साथ भी नहीं जा रही। कांगे्रस वाला नै कह दी होगी कि वोट दे दूंगी।
पत्नी : हां

नेता: पांच से तो उसको ज्यादा मिल जाएंगा, कोई दिक्कत ना है।
पत्नी : कहां सै दिलवाओगे या बताओ?

नेता: जैन साहब से
पत्नी : तुम या का चक्कर में आ गया लगता हो। मेरे को लग रहो है।

नेता: तुम अभी राजनीति ना समझ रही।
पत्नी : हां

नेता: वोट तो इनमें से ही हम सात-आठ क्रॉस करा देंगे। ना समझ रही। समझ गी होगी। पैसा दे इसको 10 लाख रुपया और वा सै कह दांग्या कि वोट मत दियो याको। समझ गी।

पत्नी : कह दीजो, दिलवा दीजो। वा में अपनो भी रहेगा। कोई दिक्कत ना।

नेता: लेकिन, कोई गारंटी ना है। कहीं झूठ सांच मै फंस जाएं अपन ही।
पत्नी : वा तो नू कह रही तुम्हारे घर बैठ जाऊं बताओ।

नेता: अच्छा, चलो अभी बात करके बात करूंगा।
पत्नी : नीलू को फोन आओ भाभीजी कभी जिन्दगी में ना भूलंगी। सुनो, अशोक पाठक भी ना दे रहो। बाबा सै वाट्सअप कॉल पर देर रात बात हुई। वा भी ना चाह रहो बोर्ड बने। सबकी फील्डिंग सैट हुई पड़ी है।

नेता: चलो करूंगा बाद मै।
पत्नी : सुनो अंगूरी कनै छोटो फोन है। वा सै फोन ले लीजो, दे देगी। या फोन सै बात मत करियो।
नेता: ठीक।

[MORE_ADVERTISE1]