स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सभापति के चुनाव में भीतरीघात करने पर भाजपा पार्षद सीताराम चौधरी निलम्बित

Prem Pathak

Publish: Dec 30, 2019 23:34 PM | Updated: Dec 30, 2019 23:34 PM

Alwar

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने अलवर नगर परिषद के स्थानीय निकाय चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने की गंभीर शिकायतों के चलते भाजपा पार्षद सीताराम चौधरी को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित करने के आदेश दिए हैं।


अलवर. भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने अलवर नगर परिषद के स्थानीय निकाय चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने की गंभीर शिकायतों के चलते भाजपा पार्षद सीताराम चौधरी को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित करने के आदेश दिए हैं।

पार्टी के प्रदेश महामंत्री वीरमदेव सिंह ने बताया कि पार्षद सीताराम चौधरी को अनुशासनहीनता की शिकायत के सम्बन्ध में अलग से कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि पार्षद चौधरी के निलम्बन में निकाय चुनाव के बाद वायरल हुए वीडियो की बड़ी भूमिका रही है।

भाजपा खेमे के 10 पार्षदों ने की थी क्रॉस वोटिंग

अलवर नगर परिषद के सभापति चुनाव में भाजपा के करीब 10 पार्षदों ने क्रॉस वोटिंग की थी। इस कारण भाजपा खेमे में बहुमत के लिए लिए जरूरी पार्षदों की संख्या होने के बावजूद सभापति के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी धीरज जैन के पक्ष में 28 वोट ही डले। जबकि भाजपा के सिम्बल पर 27 पार्षद जीते थे। वहीं कई निर्दलीयों का समर्थन भी भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में होने का दावा किया गया था। पाटी सूत्रों का कहना है कि अलवर नगर परिषद सभापति चुनाव में भाजपा खेमे से करीब 10 पार्षदों ने क्रॉस वोटिंग की। इस कारण भाजपा को सभापति चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा था।

वायरल वीडियो में पार्टी विरोधी गतिविधियों की बातचीत

नगर परिषद चुनाव के बाद वायरल हुए एक वीडियो में महिला व पुरुष की बातचीत में अलवर नगर परिषद चुनाव में भाजपा के खिलाफ रची गई पार्टी विरोधी गतिविधियों का जिक्र है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि वायरल वीडियो भाजपा से जुड़े एक पार्षद व उनके परिजन का था। इसमें क्रॉस वोटिंग को लेकर की गई चर्चा भी शामिल थी।

पहली गाज गिरी, अभी और कार्रवाई का इंतजार

भाजपा से जुड़े नेताओं व कार्यकर्ताओं का कहना है कि निकाय चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों की शिकायतों पर पहली गाज गिरी है। अभी कई और लोगों पर कार्रवाई होने का इंतजार है। उल्लेखनीय है कि इस बार अलवर नगर परिषद सभापति चुनाव में भाजपा में बड़े पैमाने पर हुई क्रॉस वोटिंग की गूंज भाजपा के प्रदेश संगठन तक रही। इसी का नतीजा है कि भाजपा ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की है।

[MORE_ADVERTISE1]