स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अहोई अष्टमी पर मांगी संतान की खुशहाली

Shyam Sunder Sharma

Publish: Oct 22, 2019 01:50 AM | Updated: Oct 22, 2019 01:50 AM

Alwar

घरों में बने पकवान


अलवर. कार्तिक मास कृष्ण पक्ष की अष्टमी पर सोमवार को अहोई अष्टमी की पूजा श्रद्धा के साथ की गई। इस दिन महिलाओं ने संतान की प्राप्ति व संतान की खुशहाली के लिए माता का व्रत किया और दोपहर बाद कहानी सुनकर सूर्य देव को अघ्र्य देकर व्रत खोला।

व्रत के चलते घरों में सुबह से ही आस्था का माहौल बना हुआ था, सभी महिलाएं पकवान बनाने की तैयारी में जुटी हुई थी। इस दिन महिलाओं ने घरों में माता की पूजा के लिए पक्की रसोई बनाई। महिलाओं ने खासतौर से पीले रंग की साडी पहनी जो कि उन्हें संतान की उत्पत्ति पर पीहर की तरफ से दी जाती है। श्रद्धालु महिला बबीता शर्मा ने बताया कि अपनी सास के साथ उन्होंने भी यह व्रत रखा और पूजा की सामग्री अपनी सास को भेंट की। इसके बाद सास व जेठानियों का आशीर्वाद लिया। उन्होंने बताया कि यह व्रत दीपावली से आठ दिन पहले किया जाता है। जिन महिलाओं के संतान नहीं होती है, उन्हें यह व्रत आवश्यक रूप से करना चाहिए।अहोई माता का चित्र लगाकर उसकी पूजा की जाती है और कहानी सुनी जाती है। इधर, अहोई अष्टमी की पूजा के लिए बाजारों में मिटटी के कलश व कैलेंडर आदि की खूब बिक्री हुई। इनकी भी पूजा की जाती है।