स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

‘बड़ी से बड़ी समस्या गुरु के मार्गदर्शन में हो जाती है हल’

Rajesh Mishra

Publish: Jul 20, 2019 17:49 PM | Updated: Jul 20, 2019 17:49 PM

Alirajpur

जिला पतंजलि योग समिति ने मनाई गुरु पूर्णिमा

आलीराजपुर. जिला पतंजलि योग समिति व भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में गुरु पूर्णिमा के अवसर पर प्रात:कालीन योग कक्षा में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर बाबा रामदेव योग गुरु की प्रतिमा के समक्ष पूजा-अर्चना करने के पश्चात समूचे विश्व में भारत की कीर्ति बढ़ाने के योगदान की सराहना की गई।
जिला समिति के पदाधिकारी डॉ. कन्हैयालाल गुप्ता, अरुण गेहलोत, हेमंत सिंह सिसौदिया, राजेश राठौर, निरंजन मेहता, उमेश वर्मा व शोभा भावसार ने कहा, गुरु वह होता है जो अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाता है। जिंदगी में समस्या कितनी भी बड़ी क्यों न हो, वह गुरु के मार्गदर्शन से सहज ही हल हो जाती है। इस दौरान वक्ताओं ने गुरु की महत्ता के संबंध में विचार व्यक्त किए।
कार्यक्रम में जिला समिति के साधकों की ओर से जिला प्रभारी डॉ. केएल गुप्ता द्वारा योग गुरु के रूप में सेवा के लिए शॉल व श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया गया। जिला पतंजलि योग समिति के पदाधिकारी शैलेश सर्राफ, राधेश्याम नंगवाडिया, धर्मेंद्र राठौर व उमेश वर्मा ने बताया, स्वस्थ भारत, समृद्ध भारत के लक्ष्य के साथ आरोग्यप्रद समृद्धि व पवित्रता की नई दिशा के लिए प्रेरित करने वाले अनुष्ठान में फतेह क्लब पर प्रतिदिन प्रात:कालीन योग कक्षा में सुबह 5.30 बजे से 7 बजे तक योगाभ्यास किया जाता है। उन्होंने समस्त नगरवासियों से उक्त योगाभ्यास में सम्मिलित होकर योग का लाभ लेने की अपील की।
कार्यक्रम में योग साधक वरिष्ठ पदाधिकारी बालकृष्ण गुप्ता, कैलाशचंद शर्मा, सुधीर गुप्ता, अशोक सिलाका, विष्णु राठौड़, निरंजन वाघेला, आजाद जैन, प्रीतिका राठौर, संगीता चौहान, ब्रजकुमारी सोनी, वासुदेव सोनी, आरडी राठौर, प्रकाश राठौड़ उपस्थित थे।
गायत्री परिवार के साधकों ने मनाई गुरु पूर्णिमा
आलीराजपुर. शक्तिपीठ पर अखिल विश्व गायत्री परिवार के साधकों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा व्यास पूर्णिमा (गुरु पूर्णिमा) पर्व भव्य रूप से मनाया गया। प्रात: 6 बजे से शाम 6 बजे तक अखंड जप अनुष्ठान का कार्यक्रम रखा गया। शाम को गुरुद्वारे पर सजावट की गई। इसमें महिला मंडल एवं कार्यकर्ताओं ने सहभागिता की। 16 जुलाई को प्रात: 5 बजे से गुरुदेव की झांकी सजाकर प्रभात कीर्तन के साथ नगर भ्रमण कराया गया। प्रात: 8 बजे शक्तिपीठ पर 5 कुंडीय यज्ञ एवं दीक्षा संस्कार, विद्यारंभ संस्कार, पुंसवन संस्कार आदि संस्कार कराए जाकर गुरु पूजन किया गया। वहीं रात्रि 8.00 बजे दीप यज्ञ एवं आ. शैल जीजी का शांतिकुज से प्रसारित भावपूर्ण गुरु संदेश सुनाया गया, जिसमें नगर के साधकगण तथा महिला मंडल का विशेष सहयोग रहा। कार्यक्रमों को सफल बनाने में प्रभारी जीएल भाटिया, रणछोड़ भाई राठौड़, बीएल भिंडे, पुरुषोत्तम करमदिया, सत्येन्द्र चौहान, जगदीश राठौड़, गायत्री बहन तथा महिला मंडल तथा समस्त कार्यकर्ताओं का योगदान रहा।