स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अजमेर के जैन मंदिरों में पूजन और अभिषेक,भजनों की बही सरिता

Suresh Bharti

Publish: Sep 12, 2019 01:08 AM | Updated: Sep 12, 2019 01:08 AM

Ajmer

पर्युषण पर्व पर व्रत-उपवास के जरिए साधना,शास्त्र प्रवचनों में बताई जैन धर्म की महत्ता गुरुवार को अनंतचतुर्दशी पर मंदिरों में होंगे कई आयोजन

अजमेर. दिगम्बर जैन समाज के पर्युषण पर्व पर अजमेर के मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना जारी है। पर्व के नवें दिन बुधवार को उत्तम आकिंचन धर्म पर पूजा की गई। जिनेन्द्र प्रतिमाओं के जल, दूध, दही व चंदन के साथ सामूहिक अभिषेक हुए।

घंटे-घडिय़ाल और जयकारों के बीच श्रावक-श्राविकाओं ने हर्ष ध्वनि की। पर्युषण पर्व के तहत जैन मंदिरों को विशेष रंग-बिरंगी विद्युत रोशनी व पचरंगी पताकाओं से सजाया गया है।
केसरगंज स्थित पाश्र्वनाथ दिगम्बर जैसवाल जैन मंदिर में बुधवार को श्रावक-श्राविकाओं ने सामूहिक पूजा अर्चना की। सुबह 6.15 बजे शांतिधारा अभिषेक व संगीतमय पूजन विधान किया गया। पंडित मनोज ने कहा कि आकिंचन का अर्थ है कि जो हमारा नहीं उसे तथा उसके प्रति आसक्ति रूप भावों को भी छोड़ देना। यह आकिंचन धर्म स्वयं के अस्तित्व का बोध कराने वाला है। वाद्य यंत्रों के साथ पूजन मंत्रों की गूंज पर कई श्रद्धालु नृत्य करते रहे। दिल्ली से आए मनोज शर्मा ने लघु नाटिका ‘नैना सुन्दरी’ का मंचन किया। गुरुवार को अनंत चतुदर्शी मनाई जाएगी। इस दिन जैन समाज के प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

पंचशील स्थित दिगम्बर जैन मंदिर : उत्तम आकिंचन धर्म पर सुबह जिनेन्द्र अभिषेक, वृहद शान्तिधारा मंदिर प्रांगण में हुई। दशलक्षण मंडल विधान का संगीतमय पूजन संतोष कासलीवाल, सुनिता शाह, प्रीति काला ने कराई। पूजन मे मधु बिलाला, नीलू कासलीवाल, रुक्मणी जैन, कुसुम पाटनी, सरिता पाण्डया आदि उपस्थित रहे। पाल बीचला स्थित पल्लीवाल दिगम्बर जैन मंदिर में उत्तम आंकिचन धर्म पर विशेश पूजा हुई। अनन्त चतुदर्शी व भगवान वासुपूज्य का मोक्ष कल्याणक गुरुवार को मनाया जाएगा। श्रावक निर्वाण मोदक भी चढ़ाएंगे। नवकार महिला मण्डल अध्यक्ष सरिता जैन के अनुसार पर्युषण पर्व पर विशेष धार्मिक आयोजन जारी है। इसी प्रकार वैशाली नगर स्थित श्री पाश्र्वनाथ मंदिर में प्रात: शांतिधारा हुई। सामूहिक पूजन में महिला-पुरुषों ने भाग लिया। क्षुल्लक नयसागर ने प्रवचनों में आत्मशुद्धि के लिए संयमित जीवन जीने, तपस्या के जरिए शरीर को निर्जरा बनाने तथा धर्म के प्रति समर्पण पर जोर दिया।

भजनों में आदिनाथ की महिमा के गुणगान

छोटे धड़े की नसियां में बुधवार रात दिगम्बर जैन संगीत मंडल, अजमेर के संयोजक प्रो. सुशील पाटनी की अगुवाई में भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। इस दौरान विमल गंगवाल,संजय पहाडिय़ा,सुभाष पाटनी आदि ने एक शाम आदिनाथ बाबा के नाम भक्ति संध्या में भजन सरिता बहाई। कार्यक्रम के पुण्यार्जक अतुल मधु पाटनी रहे।

दिगम्बर जैन महिला महासमिति युवा महिला संभाग की अध्यक्ष मधु पाटनी ने बताया कि आरती के बाद भक्तामर पाठ हुए। 48 दीपक प्रज्ज्ज्वलित किए। अतुल मधु पाटनी की ओर से भजन गायकों को नवाजा गया। इस अवसर पर छोटा धड़ा पंचायत के अध्यक्ष दिनेश पाटनी, उपाध्यक्ष कोसिनोक जैन, मंत्री नितिन दोषी ने अतुल मधु पाटनी को स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया