स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Good news : रक्षाबंधन पर महिलाओं को free यात्रा की मिलेगी सौगात

Preeti Bhatt

Publish: Aug 14, 2019 14:46 PM | Updated: Aug 14, 2019 14:46 PM

Ajmer

raksha bandhan : रोडवेज ने की नि:शुल्क यात्रा की तैयारियां

अजमेर. भाई - बहन के पवित्र त्यौहार रक्षाबंधन (raksha bandhan)पर हर वर्ष महिलाओं और बालिकाओं को राजस्थान रोडवेज (Rajasthan Roadways) की तरफ से विशेष तोहफा दिया जाता है।जिसका सभी बहनें उत्साह के साथ इंतजार करती हैं।और वो विशेष तोहफा है निशुल्क यात्रा का।रोडवेज ने की नि:शुल्क (free)यात्रा की तैयारियां कर ली है।इसके लिए 10 अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की गई।

Read More : Raksha bandhan : सरहद पर तैनात सैनिकों के लिए भेजी राखियां

रक्षाबंधन के दिन महिलाओं/ बालिकाओं की नि:शुल्क यात्रा के लिए राजस्थान रोडवेज के अजमेर व अजयमेरु आगार ने तैयारी कर ली है। अजमेर आगार के मुख्य प्रबन्धक अनिल पारीक ने बताया कि 10 अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की गई। मांग के अनुरूप रूट पर बसें बढ़ाई जाएंगी। अजयमेरू आगार के मुख्य प्रबन्धक सुदीप शर्मा के अनुसार आवश्यकता अनुसार बसेंं संचालित की जाएगी। रक्षाबंधन के दिन जयपुर, दिल्ली, मकराना, कोटा, केकड़ी सहित अन्य रूट पर महिला यात्रियों की भीड़ अधिक रहती है। रोडवेज(Roadways) मुख्यालय ने आगार प्रबन्धकों रक्षाबंधन के लिए अतिरिक्त बुकिंग विडो (buking windo )खोलने के निर्देश दिए हैं। आदेशों के तहत बुधवार रात 12 से गुरुवार रात 12 बजे महिलाएं राजस्थान की सीमा में रोडवेज बसों (वोल्वो/एसी/ एसी स्लीपर,स्केनिया बसों को छोडकऱ) में यात्रा कर सकेंगी।

read more : केन्द्रीय महिला बंदीगृह में महिलाओं ने लगाई दौड़, बनाई राखी-रंगोली

अजमेर. अजमेर सेन्ट्रल जेल के महिला बंदीगृह में मंगलवार को सास्विका सोसायटी आशादीप प्रिजऩ मिनिस्ट्री अजमेर व पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज़ अजमेर की ओर से खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत आशादीप प्रिजऩ मिनिस्ट्री अजमेर की संगीता ने ईशभक्ति गीत से की। वहीं महिला बंदियों ने एक्शन सांग पर ताल से ताल मिलाई। महिला बंदियों ने गीत-संगीत प्रतियोगिता के पश्चात नींबू दौड़, जलेबी दौड़ में उत्साहपूर्वक भाग लिया। रंगोली, राखी तथा मेहन्दी प्रतियोगिता में प्रतिभागियों ने कला का का प्रदर्शन करते हुए आकर्षक रंगोली, राखी तथा मेहन्दी बनाई। विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पीयूसीएल के राज्य उपाध्यक्ष डी.एल, त्रिपाठी ने विजेता पुरस्कृत किया।

Read More: राखी पर नहीं रहेगी भद्रा, वर्षों बाद बना संयोग