स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बालाजी मेले में झलकी लोक संस्कृति, खेलकूद प्रतियोगिता में दिखा उत्साह

Suresh Bharti

Publish: Sep 12, 2019 02:28 AM | Updated: Sep 12, 2019 02:28 AM

Ajmer

कबड्डी प्रतियोगिता में खातोली की टीम को मिला खिताब, झूले-चकरी का उठाया लुत्फ, प्रतिमा के किए दर्शन, पर्व-त्योहार को बताया समाज की मजबूती की वजह

अजमेर. सीए अजीत अग्रवाल ने कहा कि पर्व,त्योहार के आयोजन से हमारी संस्कृति जीवंत हो उठती है। पुरखों ने समाज की एकता, परिवार में समन्वय व समरसता बढ़ाने के लिए पर्व मनाने की परम्पराएं शुरू की है। उसकी यही वजह है कि हम सभी एकता के सूत्र में बंधे रहें।

अग्रवाल बुधवार को अजमेर जिला मुख्यालय समीप चाचियावास स्थित श्री बालाजी नवयुवक मंडल की ओर से आयोजित इच्छापूर्ण बालाजी के दो दिवसीय वार्षिक मेले का समापन पर बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।
अग्रवाल ने कहा कि खेलकूद प्रतियोगिताओं से सेहत बेहतर रहता है। साथ में भाईचारे में वृद्धि होती है। समाज की मजबूती की जड़ में खेलकूद प्रतियोगिताओं की अहम भू्मिका है। ग्रामीण परिवेश में हमारी असली संस्कृति देखी जा सकती है।

मेला संयोजक आनंद गौड ने कहा कि धार्मिक पर्व मनाने का मकसद सामाजिक समरसता की सरिता बहाना है। यह सदियों से चली आ रही परम्परा है। पर्व-त्योहार हमारी संस्कृति का दर्पण है। इस संस्कृति को अक्षुण्य बनाए रखने के लिए सामूहिक प्रयासों की जरूरत है।

कबड्डी प्रतियोगिता में शरीक 16 टीमें

मेले में बुधवार को कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इसमें चाचियावास, ऊंटड़ा, खातोली, कायड़ व अरडक़ा सहित १६ गांवों की टीमों ने भाग लिया। कबड्डी प्रतियोगिता के फाइनल में खातोली व कायड़ की टीमों के बीच खिताबी जंग हुई।

इसमें खातोली की टीम विजयी रही। तृतीय स्थान पर ऊंटड़ा की टीम रही। सरपंच सूरजकरण गुर्जर, सत्यनारायण शर्मा, आनंद गौड, पारसमल जैन, अंकित जांगिड़, भंवरसिंह राठौड़, नंदलाल परिहार, महावीर वैष्णव सहित कई लोगों ने मेले की विभिन्न व्यवस्थाएं संभाली।

प्रकृति से जुडऩे पर जोर

विशेष अतिथि सार्थक मित्तल ने जैविक खेती करने,पर्यावरण की रक्षा,गौ सुरक्षा प्रकृति से जुडऩे पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि यदि प्रकृति से छेड़छाड़ जारी रही तो कई दुष्परिणाम भुगतने होंगे। रासायनिक उपयोग से कृषि पैदावार प्रभावित हो रही है। साथ में इंसान और पशु-पक्षी भी चपेट में हैं। इससे बचने के लिए जैविकता की ओर लौटना होगा। समारोह में मुख्य अतिथि सीए अजीत अग्रवाल ने कबड्डी व लक्की ड्रा के विजेताओं को पुरस्कृत किया।