स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Crime : शोर नहीं मचाता बच्चा तो हो जाता चोरी

dinesh sharma

Publish: Sep 16, 2019 06:06 AM | Updated: Sep 16, 2019 03:13 AM

Ajmer

राहगीरों की सजगता से नाकाम रहे महिला के प्रयास, गुस्साए लोगों ने कर दी पिटाई, बाद में पुलिस के सुपुर्द कर दिया

अजमेर.

शहर के आदर्श नगर क्षेत्र में रविवार को महिला ने बच्चे को पाउडर सुंघाकर चुराने का प्रयास किया। बच्चे के शोर मचाने और राहगीरों की सजगता से उसके प्रयास नाकाम रहे। गुस्साए लोगों ने महिला की पिटाई कर दी। बाद में अलवर गेट थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया।
बालुपुरा रोड आदर्श नगर निवासी करण ने बताया कि रविवार सुबह वह दोस्तों के साथ खेल रहा था। अचानक उसकी तरफ लपकी एक महिला ने उसे पाउडरनुमा पदार्थ सुंघाने का प्रयास किया, लेकिन वह उसके चंगुल से छूट गया। उसके शोर मचाने पर मौके पर पहुंचे राहगीरों ने महिला की पिटाई कर दी।

करण ने बताया कि महिला ने मौके पर खुद को उसकी मां बताया। जब उसने कहा कि वह उसका बेटा नहीं है, तो उसने मुंह पर हाथ रख दिया। जब उसने खुद को छुड़ाने का प्रयास किया तो महिला ने हाथ पर काट लिया। अलवर गेट पुलिस थाने में महिला अपशब्दों की बौछार करती रही। प्रारंभिक तौर पर महिला मानसिक बीमार अथवा नौटंकी करती नजर आई।

दरगाह बाजार में पुलिस-व्यापारियों में तकरार

अजमेर. दुकान के बाहर सामान रखने और चालान वसूली को लेकर रविवार को दरगाह बाजार में व्यापारियों और पुलिस में तीखी तकरार हो गई। व्यापारियों ने पुलिस पर बेवजह परेशान करने का आरोप लगाते हुए नाराजगी जताई। उन्होंने जल्द उच्चाधिकारियों से मुलाकात का फैसला भी किया है।

READ MORE : प्रधानमंत्री के गृह राज्य से अजमेर में प्लास्टिक कैरीबैग की सप्लाई!

दरगाह बाजार में कपड़े, इलेक्ट्रिॉनिक सामान, फूल और अन्य व्यापारियों की दुकान हैं। यहां तय सीमा से बाहर सामान रखने पर दरगाह थाना पुलिस चालान बनाती है। रविवार को एएसआई कानाराम जाखड़ और पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। दो व्यापारियों के सामान तय सीमा से बाहर होने पर उन्होंने दुकानदार को बुलाया। इस दौरान व्यापारियों और पुलिसकर्मियों के बीच तीखी बहस हो गई।

बेवजह करते हैं परेशान

कपड़ा व्यवसायी गोविंद नारायण ने पुलिसकर्मियों पर आए दिन व्यापारियों को परेशान की बात कही। उन्होंने दुकान और बाजार के बाहर अतिक्रमण के नाम पर 150 रुपए जुर्माना वसूली और रसीद नहीं देने का आरोप लगाया। इस पर पुलिसकर्मियों ने भी उसे शांति से बातचीत करने की हिदायत दे डाली।

ठेले वालों पर कार्रवाई नहीं

बर्तन व्यवसायी हितेश बसरानी ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने अभद्र तरीके से उन्हें बुलाकर सामान अंदर रखने और जुर्माना जमा कराने की बात कही, जबकि पूरे दरगाह बाजार में ठेले तय सीमा से बाहर खड़े रहते हैं। इसके बावजूद पुलिसकर्मी कार्रवाई नहीं करते। नाम नहीं छापने की शर्त पर कुछ व्यापारियों ने जुर्माना रसीद नहीं देने की बात भी कही।