स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Agitation:Government शब्द पर मचा बवाल ,छात्र-छात्राओं ने किया विरोध

raktim tiwari

Publish: Sep 17, 2019 10:37 AM | Updated: Sep 17, 2019 17:34 PM

Ajmer

कॉलेज में शैक्षिक बायकॉट किया जाएगा। तकनीकी विश्वविद्यालय और अन्य संस्थानों को भी ठप किया जाएगा।

अजमेर. इंजीनियरिंग कॉलेज (engineering college) के नाम से ‘राजकीय’ शब्द हटाने के खिलाफ छात्र-छात्राएं मंगलवार को सडक़ों पर उतरे। बॉयज के साथ गल्र्स कॉलेज में जबरदस्त आंदोलन हुआ। विद्यार्थियों (students)ने करीब दो घंटे तक नारेबाजी और प्रदर्शन किया। उन्होंने चेताया कि राजकीय शब्द (Government) को यथावत नहीं रखा गया तो प्रदेश भर में इंजीनियरिंग कॉलेज बंद कर दिए जाएंगे।

पिछले महीने तकनीकी शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव (joint seceratory) ने सभी कॉलेज को राजकीय शब्द का प्रयोग नहीं करने के निर्देश दिए थे। इसके विरोध स्वरूप राज्य भर में विद्यार्थियों का विरोध (agitation) शुरू हो गया है। मंगलवार को अजमेर के बॉयज इंजीनियरिंग कॉलेज (boys engineering college) के छात्र-छात्राएं धरने पर बैठ गए। उन्होंने मुख्य द्वार पर नारेबाजी और प्रदर्शन किया।

read more: बीस घंटे बाद मिला खारी नदी में बहे बालक का शव

हमारी डिग्री की क्या गारंटी...

प्राचार्य और शिक्षकों ने इसे सरकारी आदेश की बात कही तो छात्र-छात्राओं ने उन पर कई सवालों की बौछार कर दी। विद्यार्थियों (students) ने कहा कि हमने राजकीय कॉलेज होने के चलते यहां प्रवेश लिए हैं। ऐसा होना था हम निजी इंजीनियरिंग कॉलेज (private college) में प्रवेश ले सकते थे। राजकीय शब्द हटाने के बाद बी.टेक/एम.टेक डिग्री (degree validity) की क्या गारंटी है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) या अन्य संस्था ने डिग्री पर सवाल उठाए तो किसकी जवाबदेही होगी।

read more: बारिश थमी लेकिन बीसलपुर बांध में पानी की आवक जारी

नहीं चलने देंगे कॉलेज
विद्यार्थियों ने दो घंटे तक प्रदर्शन किया। उन्होंने सरकार को चेताया (ALERT) कि प्रदेश के सभी कॉलेज के आगे राजकीय शब्द यथावत नहीं रखा गया तो उग्र आंदोलन (State wide agitation) किया जाएगा। सभी इंजीनियरिंग कॉलेज में शैक्षिक बायकॉट किया जाएगा। तकनीकी विश्वविद्यालय (RTU KOTA) और अन्य संस्थानों को भी ठप किया जाएगा।

read more: FaKe IAS: आठवीं पास निकला सीएमओ का फर्जी आईएएस, यूं ठगता था बेरोजगारों को

यह है स्थिति

प्रदेश में अजमेर के बॉयज और महिला इंजीनियरिंग कॉलेज समेत झालावाड़, भरतपुर, बीकानेर, बांसवाड़ा, धौलपुर, करौली, बारां और बाडमेर के अलावा भीलवाड़ा में इंजीनियरिंग कॉलेज संचालित है। यह कॉलेज करीब 20-30 साल से अपने नाम के आगे राजकीय शब्द (government) लिख रहे हैं। पिछले महीने तकनीकी शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव ने सभी कॉलेज को अंग्रेजी में ‘एन ऑटोनॉमस इंस्टीट्यूट ऑफ गवर्नमेंट ऑफ राजस्थान ’ लिखने को कहा है।

read more: Theft : अजमेर में बढ़ी चोरी, 2.50 लाख के नगीने-अंगूठियां साफ