स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Utility News: जल्द ही बदले जा सकते हैं आपके मोबाइल नंबर, पूर्व दूरसंचार अधिकारी बोले समय की मांग है ये...

suchita mishra

Publish: Sep 23, 2019 10:50 AM | Updated: Sep 23, 2019 11:03 AM

Agra

लगातार मोबाइल कनेक्शंस की बढ़ती संख्या को देखते हुए ट्राई का मानना है कि मोबाइल नंबर की मौजूदा व्यवस्था को बदलने का समय आ चुका है।

जल्द ही आपके मोबाइल नंबरों में परिवर्तन किया जा सकता है। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने इसकी तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। हाल ही TRAI ने 'एकीकृत अंक योजना का विकास' टाइटल के साथ एक परिचर्चा पत्र जारी कर लोगों के सुझाव मांगे हैं। परिचर्चा पत्र में मौजूदा मोबाइल नंबर को 10 डिजिट की जगह 11 डिजिट करने के बारे में सुझाव देने के लिए कहा गया है। सुझाव दिए जाने की अंतिम तिथि 21 अक्टूबर निर्धारित की गई है।

लंबे समय से चल रहा था मंथन
इस मामले में पूर्व दूरसंचार अधिकारी डीसी शर्मा का कहना है कि 11 डिजिट का नम्बर समय की जरूरत है। बढ़ती आबादी के साथ लगातार दूरसंचार कनेक्शन की मांग तेजी से बढ़ रही है। लोगों की जरूरतों को देखते हुए TRAI की ओर से लंबे समय से इस पर विचार किया जा रहा है। अब इसे अमलीजामा पहनाने के लिए ट्राई की ओर से लोगों के सुझाव मांगे गए हैं।

ये कहना है स्थानीय लोगों का

इस मामले में समाजसेवी रोहित कत्याल का कहना है कि ट्राई को यदि नंबर बदलने हैं तो पूरे नम्बर न बदलें। आगे या पीछे समान रूप से एक डिजिट लगा दें। इससे ट्राई का काम भी आसान हो जाएगा और लोगों को भी परेशानी नहीं होगी।

शांति दूत बंटी ग्रोवर का कहना है कि पहले भी एक बार लैंडलाइन के नंबर बदले गए थे। तब सभी नंबरों के आगे समान रूप से 2 डिजिट लगा दिया गया था। इससे किसी को कोई परेशानी नहीं हुई। अगर TRAI ऐसा ही कुछ करती है तो ठीक है, लेकिन अगर नंबर ही रिप्लेस कर दिया तो लोगों को काफी परेशानी हो जाएगी।

वहीं छात्रा पल्लवी भारद्वाज का कहना है कि समय की जरूरतों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। जब भी कोई नई तकनीक आती है तो सामान्य परेशानियां तो होती हैं। लेकिन बाद में सब ठीक हो जाता है।

भाजपा नेता अश्वनी वशिष्ठ का कहना है कि सरकार जनता के हित में कदम उठा रही है। सुझाव इसीलिए मांगे गए हैं, ताकि जनता को समस्या न हो। लोगों को इस मामले में आगे बढ़कर ज्यादा से ज्यादा सुझाव देने चाहिए ताकि उनके मन मुताबिक रास्ता निकाला जा सके।