स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारत का पर्यावरण शुद्ध रखने के लिए RSS यूपी के इस शहर में करेगा मंथन

Dhirendra yadav

Publish: Sep 20, 2019 19:31 PM | Updated: Sep 20, 2019 19:31 PM

Agra

-‘पेड़ लगाओ, पानी बचाओ, पॉलीथिन हटाओ’ पर ध्यान
-22 सितम्बर को 23 राज्यों के 250 कार्यकर्ता आ रहे
-डॉ. कृष्ण गोपाल और गोपाल आर्य करेंगे संबोधित

आगरा। पर्यावरण (Environment) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya swaymsevak sangh) की अखिल भारतीय गतिविधि है। इस गतिविधि को संघ में हाल के दिनों में ग्वालियर में आयोजित अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक में जोड़ा गया था। पर्यावरण का संरक्षण, वृक्षों के कटान को रोकना, अधिकाधिक पौधों का रोपण और उनका पालन, जल संरक्षण को लेकर समाज में जागरूकता उत्पन्न करना और प्लास्टिक के उपयोग को कम करते हुए प्रकृति संरक्षण की क्षेत्र में समाज में प्रबोधन करना इस गतिविधि का मुख्य उद्देश्य है। पर्यावरण प्रदूषण को रोकने एवं संरक्षण और समाज में जागरूकता उत्पन्न करने के लिए राष्ट्रीय दायित्व में संघ के कार्यकर्ता अपने दायित्वों का निर्वहन करेंगे। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए भारत में दो स्थानों आगरा व पुणे में अखिल भारतीय पर्यावरण बैठक का आयोजन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें -जन्मदिवस विशेषः गायत्री के आराधक Acharya shriram sharma के बारे में अनोखी जानकारी

सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल आएंगे
यह जानकारी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पर्यावरण गतिविधि के अखिल भारतीय सह प्रमुख राकेश जैन ने दी। उन्होंने बताया कि आगरा में बैठक 22 सिम्तबर को प्रातः काल से सायं पांच बजे तक फतेहाबाद रोड स्थित पल्स रिर्साट में आयोजित होगी। बैठक में 23 प्रांतों के पर्यावरण गतिविधि से जुड़े करीब 250 कार्यकर्ताओं की सहभागिता रहेगा। बैठक में प्रकृति संरक्षण से जुड़े कार्यों की योजना और रूपरेखा बनेगी। पर्यावरण बैठक में कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल (Dr krishna gopal) व पर्यावरण गतिवधि के अखिल भारतीय प्रमुख गोपाल आर्य का मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

ये भी पढ़ें - New Motor Vehicle Atc: आरटीओ जा रहे हैं, तो पढ़ लें ये खबर, डीएल बनवाना नहीं है आसान

तीन बिन्दुओं पर ध्यान
राकेश जैन ने बताया कि बैठक में तीन बिन्दुओं ‘पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाओ’ पर ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पर्यावरण की आदर्श स्थित यह है कि किसी भी महानगर में 30 प्रतिशत तक हरियाली हो, लेकिन वर्तमान में अधिकांश महानगरों में यह आंकड़ा 13 से 21 प्रतिशत तक ही है। उन्होंने बताया कि बैठक में वर्षा जल संरक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। समाज में अधिकाधिक पौधों का रोपण हो, इसके लिए कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी तय की जाएगी। बैठक में उन व्यक्तियों के अनुभवों को भी साझा किया जाएगा, जिन्होंने पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया है। बैठक में पर्यावरण की गतिविधियों का प्रभावी क्रियान्वयन हो, इसके लिए वर्ष के पर्यावरणीय कार्यक्रमों का कलेंडर भी बनाया जाएगा। पॉलीथिन के विकल्पों पर चर्चा और समाज में पॉलीथिन का प्रयोग बंद हो, इस पर भी कार्ययोजना बनायी जाएगी। प्रेसवार्ता में ब्रजप्रांत के संपर्क प्रमुख डॉ. प्रमोद शर्मा जी, आगरा विभाग के सह कार्यवाह सुनील दीक्षित उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें - शहर के इस मार्ग पर 45 वर्ष बाद मिलने जा रही जाम से मुक्ति, योगी सरकार ने दी आरओबी के लिए मंजूरी