स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाने पर स्वयंसेवकों ने किया मंथन

Amit Sharma

Publish: Sep 22, 2019 21:24 PM | Updated: Sep 22, 2019 21:24 PM

Agra

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की पर्यावरण गतिविधि की अखिल भारतीय बैठक सम्पन्न

आगरा। पर्यावरण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय गतिविधि है। इस गतिविधि को संघ में हाल के दिनों में ग्वालियर में आयोजित अ.भा. प्रतिनिधि सभा की बैठक में जोड़ा गया था। पर्यावरण का संरक्षण, वृक्षों के कटान को रोकना, अधिकाधिक पौधों का रोपण और उनका पालन, जल संरक्षण को लेकर समाज में जागरूकता उत्पन्न करने की दृष्टि से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा आज दिनांक 22 सितंबर को फतेहाबाद रोड स्थित पल्स रिसोर्ट में अखिल भारतीय पर्यावरण बैठक का आयोजन की गई। बैठक में तीन बिन्दुओं पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाओ’ पर ध्यान दिया गया। बैठक में 23 प्रांतों के पर्यावरण गतिविधि से जुड़े करीब 250 कार्यकर्ताओं की सहभागिता रही।

पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाने पर स्वयंसेवकों ने किया मंथन

बैठक का उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल जी, पर्यावरण गतिविधि के अखिल भारतीय प्रमुख गोपाल जी आर्य, पर्यावरण गतिविधि के अखिल भारतीय सह प्रमुख राकेश जैन जी ने किया। उद्घाटन सत्र में उपस्थित पर्यावरण गतिविधि से जुड़े स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने कहा कि संघ में कुटुम्ब प्रबोधन, समरसता, गाम्य विकास इत्यादि गतिविधियों की तरह पर्यावरण की नई गतिविधि की रचना हुई है। उन्होंने कहा कि वृक्ष धरती की कार्बन डाई-आक्साइड को सोख कर वातावरण के तापक्रम को कम करते हैं। इसलिए वृक्षारोपण जरूरी है।

पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाने पर स्वयंसेवकों ने किया मंथन

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, गुजरात, मप्र आदि राज्यों में बाढ़ के कारण पर्यावरण का संतुलन बिगड़ा है। हिमखंडों के पिघलने से नदियों में बाढ़ आ रही है। जिससे समुद्र का जलस्तर बढ़ रहा है। भूजल स्तर बहुत नीचे गिरा है तथा कुछ स्थानों पर 90 प्रतिशत भूगर्भ जल उपयोग के लायक नहीं रहा है। इसके लिए हमें प्रयत्न करने होंगे। पर्यावरण प्रदूषण के कारण 60 प्रतिशत बीमारियों उत्पन्न हो रहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमको अपने स्वभाव में बदलाव लाना होगा तथा उपभोग की वृत्ति को कम करना होगा। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी, विनोवा भावे, जैन मुनि आदि महापुरूषों ने पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। कृष्ण गोपाल ने कहा कि हमें अपने जीवनकाल में न्यूनतम सौ पेड़ लगाने का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि संघ ने वृक्षारोपण जलसंरक्षण तथा पॉलीथिन के द्वारा होने वाले प्रदूषण को दूर करने के लिए इन तीनों क्षेत्रों में कार्य प्रारंभ किया है।

पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाने पर स्वयंसेवकों ने किया मंथन

बैठक के दूसरे सत्र में विभिन्न प्रांतों से आए हुए प्रतिनिधियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में किए गए अनुभव प्रयोगों के बारे में जानकारी व अनुभवों का आदान प्रदान किया। तीसरे सत्र में पर्यावरण गतिविधि के दायित्व, कार्य योजना तथा संगठनात्मक कार्यो के बारे में चर्चा की गई तथा जिज्ञासा का समाधान किया गया। बैठक में आओ पर्यावरण बचाए, पर्यावरण एक आत्मोत्कर्ष सहित दो अन्य पुस्तकों का विमोचन भी किया गया। बैठक में पर्यावरण की गतिविधियों का प्रभावी क्रियान्वयन हो, इसके लिए वर्ष के पर्यावरणीय कार्यक्रमों का कलेंडर बनाने के साथ पाॅलीथिन के विकल्पों पर चर्चा और समाज में पाॅलीथिन का प्रयोग बंद हो, इसपर भी कार्ययोजना बनायी गई।

पेड़ लगाओ, पानी बचाओ व पॉलीथिन हटाने पर स्वयंसेवकों ने किया मंथन

बैठक में ब्रजप्रांत के संपर्क प्रमुख प्रमोद शर्मा, सह विभाग कार्यवाह सुनील दीक्षित, छावनी महानगर के कार्यवाह खगेश कुमार, संपर्क प्रमुख मनीष उपाध्याय, मार्तंड जी, अजय सिकरवार, मनीष शर्मा, ललित प्रजापति, मनोज बघेल, राकेश राघव, पुष्कल गुप्ता, विकास चैहान, मोहित वर्मा आदि उपस्थित रहे।