स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नगर निगम की छत पर चढ़कर आत्महत्या का प्रयास, कारण है चौंकाने वाला, देखें वीडियो

Dhirendra yadav

Publish: Sep 19, 2019 18:13 PM | Updated: Sep 19, 2019 18:13 PM

Agra

-नगर निगम में विज्ञापन ठेकेदार का हाईवोल्टेज ड्रामा
-18 लाख की रिकवरी के चलते आत्महत्या का प्रयास
-निगम अधिकारियों पर जड़े गम्भीर आरोप

आगरा। विज्ञापन ठेकेदार को बकायेदारी की बसूली के लिए रिकवरी सर्टिफिकेट जारी करना निगम अधिकारियों के गले की फांस बन गया है। करीब 18 लाख के बकायेदार आगरा एडवरटाइजर के मालिक उदयवीर सिंह ने निगम की तीसरी मंजिल पर चढ़ कर आत्महत्या (Suicide) करने की कोशिश की। बकायेदार ठेकेदार का यह हाई वोल्टेज ड्रामा करीब दो घण्टे तक चला। उसने आरोप लगाया है कि नगर निगम में तैनात अधिशासी अभियंता उसका शोषण कर रहा है, बकायेदारी को खत्म करने के लिए अधिकारी भ्रष्टाचार करना चाहता है। दरअसल, नगर आयुक्त की ओर से भूराजस्व की भांति चल अचल सम्पत्ति से वसूली कराने के लिए पत्र लिखा गया है। इसके बाद ठेकेदार ने यह कदम उठा लिया।

ये है पूरा मामला
आगरा नगर निगम से मैसर्स आगरा एडवरटाइजर मुरलीबाग, दयालबाग आगरा के पते पर पंजीकृत है। इस फर्म पर साल 2017-18 व 2018-19 में जीएसटी के प्रभावी होने से पूर्व का विज्ञापन कर व जीएसटी लागू होने के बाद प्रीमियम, साइटरेन्ट व विज्ञापन व्यवसाय का बकाया चार्जेज जमा नहीं किया है। इसे जमा कराने के लिए नगर निगम ने 25 जून 2018 को आरसी जारी की थी। ठेकेदार ने इस आरसी के खिलाफ उच्च न्यायालय, इलाहाबाद की शरण ली थी, लेकिन वहां से भी उसे राहत नहीं मिली। नगर आयुक्त ने बकाया धनराशि की वसूली के लिए जिलाधिकारी को पत्र लिखा है।

यह भी पढ़ेः-बाढ़ में फंसे दो मरीजों ने इलाज के अभाव में तोड़ा दम, प्रशासन के धरे रह गये इन्तजाम

आश्वासन मिलने पर माना ठेकेदार
नगर निगम की तीसरी मंजिल पर ठेकेदार के चढ़ते हड़कम्प मच गया। नगर निगम के अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों तक सभी ऑफिस से बाहर निकल आये। घंटों चले इस हाईवोल्टेज ड्रामे के बीच ठेकेदार को काफी समझाने का प्रयास किया गया लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुआ। बाद में उच्चाधिकारियों के आश्वासन पर उसने अपना फैसला बदला।

यह भी पढ़ेः-हरियाणा से अवैध शराब की तस्करी का खेल जारी, तस्कर गिरफ्तार

ठेकेदार का आरोप
आगरा एडवरटाइजर के मालिक उदयवीर सिंह का आरोप है कि नगर निगम में भ्रष्ट अधिकारियों का बोलबाला है। एक अधिकारी पर लगाते हुए कहा कि वह उनकी वजह से आत्महत्या करने को मजबूर है। आये-दिन रिकवरी के नाम पर उत्पीड़न किया जा रहा है। ठेकेदार का आरोप है कि 18 लाख की रिकवरी को खत्म करने के एवज में अधिकारी आठ लाख रुपये की मांग करता है। आत्महत्या करने पर आमदा ठेकेदार ने मांग की है कि इस अधिकारी की जांच की जाए तो य़ादव सिंह जैसा मामला निकल कर सामने आयेगा।