स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देर से डिनर करना हो सकता है जानलेवा, जानिए कैसे!

suchita mishra

Publish: Aug 22, 2019 18:23 PM | Updated: Aug 22, 2019 18:23 PM

Agra

देर से डिनर करने से हृदय रोग का खतरा काफी बढ़ जाता है।

आपने अक्सर घर के बड़ों को कहते सुना होगा कि रात में देर से खाना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है। लेकिन इससे कैसा खतरा होता है, शायद इससे आप वाकिफ न हों। दरअसल जब हम सोते हैं तो हमारा बीपी करीब दस फीसदी कम हो जाता है, लेकिन देर से डिनर करने के बाद हम कुछ ही देर में सोने चले जाते हैं। ऐसे में सोते समय रक्त का दबाव बढ़ जाता है जिससे हृदय संबंधी रोगों का खतरा काफी बढ़ जाता है। डॉ. नमिता पनगड़िया से जानते हैं इसके बारे में।

इसलिए बढ़ता है हृदय रोगों का खतरा
डॉ. नमिता पनगड़िया के अनुसार जब हम समय से खाना खाते हैं तो रक्त का प्रवाह आंतों की ओर हो जाता है ताकि भोजन को पचाया जा सके। इस दौरान एक्टिव रहने से शरीर को खाना पचाने का समय मिल जाता है। खाना पचने के बाद रक्त आंतों से पोषक तत्व लेकर शरीर के अन्य अंगों तक पहुंचाता है जो कि शरीर को एनर्जी देने का काम करते हैं। लेकिन देर रात खाना खाकर तुरंत सोने से शरीर एनर्जी प्राप्त करने के बजाय भारी भोजन पचाने में लग जाता है। इस दौरान रक्त प्रवाह के लिए हृदय को क्षमता से अधिक पंप करना पड़ता है जिससे उस पर जोर पड़ता है। ऐसे में कई बार हृदय संबंधी परेशानी हो सकती है।

खाने में कम लें नमक
डॉ. नमिता का मानना है कि हमें आमतौर पर डिनर में नमक कम लेना चाहिए। रात में ज्यादा नमक लेने से शरीर में पानी इकट्ठा होने लगता है। इससे भी रक्त का दबाव बढ़ता है व हृदय को अधिक पंप करना पड़ता है।

रात में अगर भूख लगे तो
जल्दी खाना खाने के बाद यदि रात में आपको भूख लगती है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। आप चने, मुरमुरे जैसी चीजें ले सकते हैं। ये आसानी से पच जाते हैं।

सोने से तीन घंटे पहले करें डिनर
डॉ. नमिता के मुताबिक हर व्यक्ति को सोने से करीब दो से तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए। जो लोग हार्ट या बीपी के मरीज हैं, उन्हें इस बात का विशेष खयाल रखना चाहिए क्योंकि उन्हें इस तरह का खतरा सामान्य लोगों की अपेक्षा अधिक होता है। ऐसे में उन्हें लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।