स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कमिश्नर के इस आदेश के बाद घर से निकलने वाले कूड़े के साथ भूलकर भी किया ये काम, होगी FIR, जाना पड़ सकता है जेल

Dhirendra yadav

Publish: Aug 19, 2019 19:05 PM | Updated: Aug 19, 2019 19:05 PM

Agra

अनुश्रवण समिति की बैठक में कमिश्नर अनिल कुमार ने शहर को स्वच्छ रखने के लिए बड़ा आदेश दिया है।

आगरा। अनुश्रवण समिति की बैठक में कमिश्नर अनिल कुमार ने शहर को स्वच्छ रखने के लिए बड़ा आदेश दिया है। कमिश्नर ने कहा कि अब यदि कोई कूड़ा जलाता हुआ पाया जाता है, तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाए। इस दौरान पूर्व के आदेशों की समीक्षा की गई।

ये भी पढ़ें - हॉस्पीटल के चेंजिंग रूम में पहुंचा डॉक्टर, नर्स से बोला मेरे सामने बदलो कपड़े, इसके बाद पूरे स्टाफ ने देखा ऐसा दृश्य जो...

डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन
बैठक में अपर नगर आयुक्त ने बताया कि 70 वार्डों में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का कार्य किया जा रहा है, जिस पर आयुक्त ने कहा कि सभी वार्डों में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का काम सुनिश्चित किया जाए, इसके साथ ही कूड़ा जलाने वालों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराकर सख्त कार्रवाई की जाए।

ये भी पढ़ें - 25 साल से बिना किसी स्वार्थ के लगातार कर रहे सेवा

अस्पतालों के बाहर चस्पा करें रजिस्ट्रेशन नम्बर
कमिश्नर ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि पंजीकृत अस्पतालों को निर्देशित किया जाए कि वे अपना रजिस्ट्रेशन नम्बर अस्पताल के बाहर प्रदर्शित करें तथा अपंजीकृत अस्पतालों का पंजीकरण कराया जाए।

ये भी पढ़ें - ताजमहल की ऐसी 10 शानदार तस्वीरें, जो आपने नहीं देखी होंगी।

इन पर हो कार्रवाई
बैठक में बताया गया कि जल संस्थान के कुछ सफाई कर्मचारियों द्वारा सीवर की सफाई का कार्य नहीं किया जा रहा है, जिस पर आयुक्त ने सफाई का कार्य न करने वाले सफाई कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हर 02 माह में एडीए, जल निगम, जल संस्थान, नगर-निगम व प्रदूषण विभाग सहित अन्य सम्बन्धित विभागों द्वारा प्रदूषण के नियन्त्रण के लिये की गई कार्रवाई की रिपोर्ट को आगामी बैठक में रखा जाए।

ये भी पढ़ें - BREAKING बबलू यादव हत्याकांड: मां, पत्नी, भाई और बहन ने मिट्टी का तेल डालकर किया आत्मदाह का प्रयास, पुलिस के छूटे पसीने

ये रहे मौजूद
बैठक में सदस्य अनुश्रवण समिति रमन, अपर जिलाधिकारी नगर केपी सिंह, सचिव, एडीए राजेन्द्र प्रसाद त्रिपाठी, चीफ इंजीनियर एडीए अजय सिंह, डीएफओ मनीष मित्तल, मुख्य चिकितसाधिकारी मुकेश कुमार वत्स सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - सड़क से हटेंगे 15 साल पुराने ये 50 हजार वाहन, अब क्या करें वाहन स्वामी